डोनल्ड ट्रंप ने तोड़ी इफ़्तार की 20 साल पुरानी परंपरा

डोनल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट Getty Images

पिछले दो दशकों से हर साल रमज़ान के मौक़े पर अमरीका के राष्ट्रपति आवास व्हाइट हाउस में इफ़्तार पार्टी का आयोजन किया जाता रहा है.

अमरीकी मीडिया के मुताबिक ये परंपरा राष्ट्रपति ट्रंप ने इस साल इफ़्तार या फिर ईद की पार्टी व्हाइट हाउस में आयोजित न करके तोड़ दी है.

हालांकि राष्ट्रपति ट्रंप और और अमरीका की फ़र्स्ट लेडी मेलानिया की ओर से शनिवार को मुसलमानों को ईद की बधाई दी गई है.

बीबीसी के वॉशिंगटन संवाददाता ब्रजेश उपाध्याय के अनुसार, ''विदेश मंत्रालय की ओर से ईद के मौके पर डिनर रखा जाता है जिसमें पत्रकारों को भी निमंत्रण दिया जाता है, वो इस बार नहीं हुआ है. व्हाइट हाउस भी इफ़्तार या फिर ईद के डिनर का आयोजन करता रहा है. लेकिन इस साल व्हाइट हाउस की प्रेस रिलीज़ में इसका कोई ज़िक्र नहीं है.''

अमरीकी चैनल सीएनएन के मुताबिक रमज़ान के मौक़े पर व्हाइट हाउस में डिनर का आयोजन नहीं कर ट्रंप ने पिछले तीन सरकारों की परंपरा तोड़ दी है.

ट्रंप, 'सेक्स टेप' और रूस की कठपुतली राष्ट्रपति

पांच महीने बाद व्हाइट हाउस पहुंचीं मेलानिया ट्रंप

'मुसलमानों' पर ट्रंप का फ़रमान: वो बातें जो हमें नहीं हैं पता

इमेज कॉपीरइट Getty Images

वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक अमरीका के तीसरे राष्ट्रपति थॉमस जेफ़रसन ने 1805 में इस परंपरा की शुरुआत की थी. हालांकि इसके बाद हाल में वाइट हाउस में इफ़्तार पार्टी की शुरुआत 1996 में राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने की थी. इस परंपरा को जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बराक ओबामा ने भी जारी रखा था.

इस डिनर में अमरीकी मुस्लिम समुदाय के अहम लोग शामिल होते थे. इसके साथ ही इसमें कांग्रेस सदस्य और मुस्लिम देशों के डिप्लोमैट भी शरीक होते थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

1999 से अमरीकी विदेश मंत्रालय या तो एक इफ़्तार पार्टी देता था या ईद के मौक़े पर एक स्वागत समारोह में पार्टी का आयोजन करता था.

इस मौक़े पर कई डिप्लोमैट्स जुटते थे.

डोनल्ड ट्रंप अपने चुनावी कैंपेन से ही इस्लाम को लेकर आक्रामक रहे हैं. ट्रंप ने अपने चुनावी कैंपेन में मस्जिदों को निगरानी में रखने की बात कही थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ट्रंप ने राष्ट्रपति बनने के बाद कई मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के अमरीका आने पर पाबंदी भी लगाने की कोशिश की थी . हालांकि ट्रंप ने अपने पहले विदेशी दौरे में सऊदी अरब की यात्रा कर अपनी छवि बदलने की कोशिश की थी.

इस यात्रा में उन्होंने 55 मुस्लिम बहुल देशों के सामने आतंकवाद के ख़िलाफ़ साथ आने की अपील की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे