तस्वीरों मेंः ट्रंप के पंजे से कैसे बचे मोदी

इमेज कॉपीरइट Getty Images

डोनल्ड ट्रंप के अमरीकी राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमरीका पहुंचे.

दोनों नेताओं के मुलाक़ात की स्टाइल बिल्कुल जुदा रही हैं. भारत के प्रधानमंत्री मोदी दूसरे देशों के नेताओं से गले मिलने के लिए चर्चित रहे हैं.

जबकि ट्रंप के बारे में मशहूर है कि वो हाथ मिलाते हुए 'पॉवर प्ले' यानी ज़ोर आज़माइश भी करते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ट्रंप सामने वाले को हाथ को पहले मजबूती से पकड़ते हैं और फिर उसे अपनी ओर ताक़त से खींचते हैं, इस विशेष शैली को 'यांकशेक' भी कहा जाता है.

बॉडी लैंगुएज एक्सपर्ट की राय में इसे 'राजनयिक शक्ति प्रदर्शन' के रूप में देखा जाता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सोमवार को जब दोनों नेताओं की मुलाक़त हुई तो सभी की नज़रें इसी पर थीं, कि दोनों नेता गले मिलते हैं या हाथ मिलाते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी की स्टाइल विश्व नेताओं के साथ क़रीबी प्रदर्शित करने से संबंधित होती है. जब वो मिलते हैं तो हाथ मिलाने के बाद तुरंत बाद गले मिलते हैं.

कई बार उनके साथ गले मिलने वालों के चेहरे पर झिझक भी दिखाई देती है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस के अंत में जब ट्रंप ने मोदी की ओर हाथ बढ़ाया तो मोदी इसे नज़रअंदाज़ करते हुए सीधे उनके गले मिल गए.

शायद ट्रंप इसके लिए तैयार नहीं थे, इसीलिए कुछ पलों के लिए वे असमंजस में भी पड़े दिखाई दिए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मोदी की आगवानी और फिर संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस को जाते हुए ट्रंप कई दफ़े मोदी की पीठ पर हाथ रखे नज़र आए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सोशल मीडिया पर लोगों ने दोनों नेताओं के मुलाक़ात पर चुटकी भी ली.

कुछ लोगों ने मोदी की तारीफ़ करते हुए मोदी के गले मिलने को, ट्रंप के 'पंजे लड़ाने वाले हैंडशेक' की काट भी बताया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)