चीन ने पहली बार हासिल की ये सैन्य ताक़त

चीन इमेज कॉपीरइट Reuters

चीन ने पहली बार घर में ही विकसित किए 10,000 टन क्लास का मिसाइल विनाशक लॉन्च किया है.

चीन के सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक बुधवार सुबह शंघाई में इसे लॉन्च किया गया.

पीएलए डेली के हवाले से ग्लोबल टाइम्स ने बताया है कि इस मिसाइल विनाशक को बुधवार सुबह शंघाई में स्थानीय समय के मुताबिक 9 बजे आज़माया गया.

यह सिस्टम एंटी-एयर, एंटी-मिसाइल, एंटी-वेसल और एंटी-सबमरीन क्षमताओं से लैस है. इस मिसाइल के साथ ख़ास बात यह है कि चीन ने इसे अपने घर में विकसित किया है.

रिपोर्टों के मुताबिक इस सफल लॉन्चिंग से चीनी नेवी को नई सामरिक ताक़त मिली है.

चीन ने बढ़ाई सैन्य ताकत, भारत हुआ और पीछे

आखिर कितनी ताकतवर है चीनी सेना ?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पीएलए डेली के अनुसार इस मिसाइल विनाशक को अभी नाम नहीं दिया गया है. हालांकि, पूर्ववर्ती रिपोर्टों के मुताबिक और विश्लेषकों ने इसे 055 गाइडेड मिसाइल विनाशक बताया है. कहा जा रहा है कि यह भविष्य के चीनी एयरक्राफ़्ट कैरियर स्ट्राइक के लिए बहुत महत्वपूर्ण है.

रिपोर्टों के मुताबिक 055 डेस्ट्रॉयर से पीपल्स लिबरेशन आर्मी कई मोर्चों पर मज़बूत होगी. ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक जल में और ज़मीन पर चीन की ताक़त और बढ़ेगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ग्लोबल टाइम्स से सैन्य विशेषज्ञ सोंग ज़ोंगपिंग ने कहा कि कई टन के होने के कारण यह अलग-अलग मोर्चों पर बिल्कुल अलग भूमिका में दिखेगा. उन्होंने कहा, ''सबसे महत्वपूर्ण यह है कि टाइप 055 चीनी समुद्री एंटी-मिसाइल सिस्टम के साथ 052D विनाशक के साथ होगा.

दक्षिण चीन सागर में जारी तनाव के बीच चीन लगातार अपनी सैन्य ताक़त को बढ़ाने में लगा है. ट्रंप के आने के बाद से दक्षिण चीन सागर पर तनाव और बढ़ा है.

अमरीका का कहना है कि दक्षिण चीन सागर में नौवाहनों की स्वतंत्र आवाजाही होनी चाहिए. दोनों देश एक दूसरे पर दक्षिण चीन सागर में सैन्य गतिविधियों को बढ़ावा देना का आरोप लगाते रहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे