गायों को बूचड़खाने भेजने के बजाए आज़ाद किया

Image caption जे अपनी गायों के साथ.

ब्रिटेन में गाय पालने वाला एक किसान नहीं चाहता था कि उसकी गायों को बूचड़खाने भेजा जाए. इसलिए उसने अपनी गायों को एक अभयारण्य के हवाले कर दिया.

इस किसान का नाम जे है जिन्होंने अपने पिता की मौत के बाद साल 2011 में इन गायों की देखभाल शुरू की थी.

ये लड़की किसके लिए पहन रही है गाय का मुखौटा?

गाय बचाने वालों से इंसानों को बचाने की चिंता

जे वैसे ख़ुद भी शाकाहारी हैं. उन पर अपने पुश्तैनी काम को संभालने का दबाव था. लेकिन उनके मन में मांस नहीं खाने और मांस खाने वालों के लिए गाय पालने को लेकर द्वंद् चलता रहता था.

भावुक

जे बताते हैं कि इससे पहले सैकड़ों गायों को बूचड़खाने भेजा गया था.

अगर जे इन गायों को बेचते तो उन्हें 60 हज़ार अमरीकी डॉलर का मुनाफा होता.

इमेज कॉपीरइट EPA

जे ने कहा कि जब वो गायों को अभयारण्य भेज रहे थे, तब भावुक हो गए थे. लेकिन आख़िरकार किसी तरह उन्होंने ख़ुद पर काबू किया.

वो कहते हैं, "जब गायें वहां पहुँचेंगी तो ट्रक से कूद पड़ेंगी. उन्हें लगेगा कि वो छुट्टियाँ मनाने आई हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे