अमरीका: ज़रूरी हुआ तो उ. कोरिया पर बल का प्रयोग करेंगे

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption संयुक्त राष्ट्र में अमरीका की राजदूत निकी हेली

अमरीका ने कहा है कि वो उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ "सैन्य ताक़त" का इस्तेमाल करेगा, अगर "उसे ये करना ही पड़ा तो".

संयुक्त राष्ट्र में अमरीका का राजदूत निकी हेली ने सुरक्षा परिषद की आपात बैठक में उत्तर कोरिया के ताज़ा मिसाइल परीक्षण से उसकी सैन्य ताकत में तेज़ बढ़ोतरी हुई है.

निकी हेली ने कहा कि अमरीका उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ एक नया प्रस्ताव लाएगा.

उन्होंने उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ व्यापार प्रतिबंधों के इस्तेमाल की भी धमकी दी.

उत्तर कोरिया लगातार मिसाइल परीक्षण कर रहा है और उसने सबसे नया टेस्ट संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की पाबंदी की परवाह किए बिना किया है.

उत्तर कोरिया को लेकर चीन से चिढ़ा अमरीका

उत्तर कोरिया के हमलों से बच सकेगा अमरीका?

इमेज कॉपीरइट KCNA
Image caption उत्तर कोरियाई मिसाइल

निकी हेली ने कहा कि कई साल तक प्योंयांग पर अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लगाए गए लेकिन ये नाकाफ़ी साबित हुए और अब नए क़दम उठाने की ज़रूरूत है.

उन्होंने कहा कि इससे दुनिया पर संकट का साया मंडरा रहा है.

निकी हेली ने कहा, उत्तर कोरिया के मंगलवार को इंटरकॉन्टिनेन्टल बैलिस्टिक मिसाइल का टेस्ट करने से "किसी कूटनीतिक हल की संभावना तेज़ी से ख़त्म हो रही है".

अमरीकी राजदूत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपात बैठक में कहा,"हमारे सामने एक क्षमता ये है कि हम पर्याप्त सैन्य ताक़त का इस्तेमाल करें. हम वो करेंगे, अगर हमें ऐसा करना ही पड़ा, मगर हमारी कोशिश होगी कि हम उस दिशा में ना जाएँ."

संयुक्त राष्ट्र में चीन के प्रतिनिधि ने कहा कि चीन उत्तर कोरिया के ताज़ा परीक्षण को स्वीकार नहीं कर सकता है.लेकिन उन्होंने संयम बरतने और बातचीत का रास्ता अपनाने की अपील की.

चीन और रूस ने अमरीका के दक्षिण कोरिया में एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम थाड तैनात नहीं करने की अपील की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)