16 साल का दूल्हा, 70 साल की दुल्हन

इमेज कॉपीरइट Getty Images

परम्पराओं और क़ानून से उलट इंडोनेशिया में एक किशोर ने 70 साल की बुज़ुर्ग महिला से शादी की है.

ये घटना तब सामने आई जब शादी का वीडियो ऑनलाइन वायरल हो गया.

वीडियो इस लड़की की शादी का वीडियो वायरल क्यों हो रहा है?

दूल्हे का 'अपहरण' कर हो रही थी शादी, दुल्हन गिरफ्तार

लड़के की उम्र 16 साल है और तकनीकी तौर पर वो शादी के योग्य नहीं है. पहले गांव के अधिकारियों ने इस शादी की इजाज़त देने से इनकार कर दिया तो जोड़े ने आत्महत्या की धमकी दी.

इसके बाद अधिकारियों ने बिना पंजीकरण के शादी की इजाज़त दे दी.

इंडोनेशियाई क़ानून के मुताबिक़, शादी के लिए महिलाओं की उम्र 16 साल और पुरुषों की उम्र 19 साल होनी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

लड़के की देखभाल के दौरान हुआ प्यार

स्थानीय मीडिया के अनुसार, दोनों में तब क़रीबी बढ़ी जब मलेरिया से पीड़ित लड़के की देखभाल की ज़िम्मेदारी बुजुर्ग महिला ने खुद उठाई.

दक्षिणी सुमात्रा के इस गांव के मुखिया सिक एनी ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि 'चूंकि लड़के की उम्र कम थी, इसलिए हमने शादी को अपंजीकृत तौर पर इजाज़त दे दी.'

उन्होंने ये भी कहा कि 'अनैतिकता को रोकने के लिए 2 जुलाई को ये शादी हुई. लड़के का नाम सलामत है जबकि पत्नी रोहाया की उम्र 71 से 75 के बीच हो सकती है.'

कथित तौर पर लड़के के पिता की कई साल पहले मौत हो चुकी थी और उसके बाद उसकी मां ने दूसरी शादी कर ली थी.

रोहाया की यह तीसरी शादी है और अपनी दो शादियों से उसके कई बच्चे हैं.

पैलेमबैंग में वुमन क्राइसिस सेंटर के सामाजिक कार्यकर्ता येन्नी इज्जी बाल विवाह के ख़िलाफ़ अभियान चलाते हैं. उन्होंने बीबीसी को बताया कि ये शादी बहुत ही 'असाधारण मामला' है.

उन्होंने कहा, "लड़के ने शादी का फैसला किसी आर्थिक या शारीरिक कारण से नहीं लिया, बल्कि रोहाया ने उसका ख्याल रखा और उससे प्यार दिया था."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

प्यार और शादी

उन्होंने बताया, "सलामत अभी इतना बड़ा नहीं हो पाये हैं कि समझ सकें. इसलिए उन्हें लगा कि प्यार पाने के लिए साथ रहना ही समाधान है. और एक साथ रहने का मतलब होता है शादी."

स्थानीय सरकारी अधिकारियों ने इस मामले को लेकर चिंता ज़ाहिर की है लेकिन अभी ये साफ नहीं है कि इसमें कोई कार्रवाई की जाएगी या नहीं.

जकार्ता पोक्ट ने इंडोनेशिया के सामाजिक मामलों के मंत्री खोफ़िफ़ा इंदार परवानसा के हवाले से कहा है कि उनके लिए इस शादी की इजाज़त देना असंभव था क्योंकि लड़के की कम उम्र है.

श्रीविजया पोस्ट ने दक्षिणी सुमात्रा के गवर्नर के हवाले से कहा है, "अधिकांश मामलों में लड़कियों की ही शादी कम उम्र में होती है. लेकिन इस शादी के संबंध में अभी कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे