जी-20: ट्रंप-पुतिन के बीच सीरिया में संघर्ष विराम पर समझौता

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और रूसी राष्ट्रपति के बीच हुई पहली मुलाक़ात में सीरिया को लेकर दोनों देशों के बीच संघर्ष विराम पर सहमति बन गई है.

दक्षिणी पश्चिमी सीरिया में संघर्ष विराम रविवार से लागू होगा. इस समझौते में जॉर्डन भी शामिल है.

तनाव के बीच मोदी और जिनपिंग का हैंडशेक

G-20 शिखर सम्मेलन से पहले जर्मनी में संघर्ष

जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में जी-20 देशों का शिखर सम्मेलन हो रहा है. सम्मेलन के पहले दिन राष्ट्राध्यक्षों के बीच अलग से भी मुलाक़ातें हुईं.

राष्ट्रपति बनने के बाद ट्रंप और रूसी राष्ट्रपति की ये पहली मुलाक़ात थी.

सबकी नज़र इस पर थी क्योंकि अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों में रूसी हस्तक्षेप के विवाद पर ट्रंप घरेलू राजनीति में निशाने पर रहे हैं.

इस दौरान दोनों नेताओं के बीच रूसी हैकिंग विवाद पर भी बातचीत हुई.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा कि पुतिन ने कहा कि हैकिंग के मामले में उनका देश शामिल नहीं था और ट्रंप ने इसे स्वीकार किया.

दोनों नेताओं के बीच सीरिया, चरमपंथ और साइबर सुरक्षा जैसे मसलों पर तय सीमा से लंबी बैठक चली.

अमरीकी विदेश मंत्री ने बताया कि दोनों नेताओं के बीच बातचीत की शुरुआत अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों में रूसी हस्तक्षेप के विवाद से शुरू हुई.

उन्होंने कहा, "राष्ट्रपति पुतिन ने इसमें शामिल रहने की ख़बरों का खंडन किया, जैसा कि वो पहले भी कर चुके हैं."

जी-20 शिखर सम्मेलन के पहले दिन जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल ने कहा कि सम्मेलन के अंतिम घोषणा से पहले अभी कई मुद्दों पर सहमति बनना बाकी है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने सम्मेलन के दौरान हैम्बर्ग में हुए हिंसक प्रदर्शनों की निंदा की.

इस शिखर सम्मेलन के मौके पर गुरुवार से ही हैम्बर्ग में पूंजीवाद विरोधी प्रदर्शन हो रहे हैं. सम्मेलन की पूर्व संध्या पर और पहले दिन प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़पें हुईं.

सम्मेलन स्थल के बाहर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच संघर्ष में कुछ लोग घायल हुए हैं.

दो दिवसीय शिखर सम्मेलन के अंतिम दिन जलवायु परिवर्तन और व्यापार के मुद्दों पर चर्चा होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)