गरीब लड़कियों के लिए मुफ़्त सैनिटरी पैड और टैंपोन

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ग़रीब महिलाएँ और लड़कियों को स्कॉटलैंड के एबरडीन में मुफ़्त सैनिटरी पैड दिए जाएंगे. स्कॉटलैंड सरकार की यह महत्वकांक्षी परियोजना पीरियड के दौरान स्वच्छता कायम करने के लिए शुरू की गई है.

ग़रीबी उन्मूलन अभियान चलाने वालों ने इस कदम का स्वागत किया है. इन अभियानकर्ताओं में द ट्रुसेल ट्रस्ट के इवान गन भी शामिल हैं.

आदमी ने पहना सैनिटरी नैपकिन!

कितना कठिन है दो गुप्तांगों के साथ जीवन

सैनिटरी पैड बनाती थीं, अब पाथती हैं उपले

उन्होंने बताया कि स्कॉटलैंड में ऐसी औरतें और लड़कियाँ हैं जो पीरियड के दौरान अख़बार या टॉयलेट पेपर का इस्तेमाल करती हैं क्योंकि वो टैंपोन या तौलिया ख़रीदने में आर्थिक रूप से सक्षम नहीं होती हैं.

यह उन महिलाओं की 'गरिमा' के लिए चलाए जा रहे अभियान का हिस्सा है जो गरीबी के कारण साफ-सफाई पर ध्यान नहीं दे पाती हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

गन ने बीबीसी रेडियो स्कॉटलैंड से कहा, "पीरियड से जुड़े समानों की यह अभावग्रस्तता एक सच्चाई है और एक बहुत प्रासंगिक मुद्दा है."

"कुछ सालों पहले यह मुद्दा मेरी जानकारी में आया था जब एक नौजवान लड़की मेरे फ़ूड बैंक में आई थी. यह फ़ूड बैंक मैं डंडी में चलाता था. उसने किसी भी तरह की स्वच्छता संबंधी चीज़ों का इस्तेमाल करने की बात से इंकार किया और कहा कि कई महीनों से तो उसे कुपोषण की वजह से माहवारी ही नहीं आई है."

गन ने यह सारी बातें गुड मॉर्निंग स्कॉटलैंड कार्यक्रम के दौरान कहीं.

गन चाहते हैं कि पूरी दुनिया में महिलाओं और लड़कियों के लिए सैनिटरी उत्पाद मुहैया हों.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे