पैंट उतरवाने के लिए श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड की माफ़ी

इमेज कॉपीरइट Rahul Samantha Hettiarachchi

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने पैंट उतरवाने और वापस यूनिफॉर्म लेने के लिए ग्राउंड स्टाफ से माफी मांगी है.

यह श्रीलंका और ज़िम्बाब्वे के बीच सोमवार को हुए एकदिवसीय सिरीज़ के आख़िरी मैच के बाद की घटना है.

इस घटना में सोशल मीडिया पर आई तस्वीरों में कुछ स्टाफ अपने अंडरवियर में दिखाई दिए.

श्रीलंका यह मैच हार गया और जिम्बाब्वे के हाथों 3-2 से सिरीज़ गंवा बैठा. साल 2001 के बाद ज़िम्बाब्वे की यह अपने देश से बाहर पहली जीत थी.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption साल 2001 के बाद जिम्बाब्वे की यह अपनी ज़मीन से बाहर पहली जीत है

श्रीलंका संडे टाइम्स वेबसाइट के मुताबिक़ जिन ग्राउंड स्टाफ से ऐसा करने को कहा गया था वो 1000 रूपये की दिहाड़ी पर मैच के दौरान महिंद्रा राजपक्षे इंटरनेशनल स्टेडियम में काम पर रखे गए थे. ऐसे 100 कर्मचारी थे.

मैच के बाद उन्हें कहा गया कि वे अपनी पैंट उतार कर रख दें. इन पैंट्स पर एसएलसी का लोगो लगा हुआ था.

श्रीलंका संडे टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक़ उन्हें कोई दूसरा इंतज़ाम कर लाने को नहीं कहा गया था और ज़्यादातर लोग कोई दूसरी पैंट भी नहीं लाए थे.

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने कहा है, "इसके पीछे ज़िम्मेवार लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी, साथ ही इस अपमान के लिए बोर्ड उन स्टाफ के लोगों से माफी मांगेगा. वो प्रभावित लोगों को मुआवजा मिले इसके लिए भी कदम उठाएगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे