रूस और ट्रंप कनेक्शन में एक जासूस का पेंच

इमेज कॉपीरइट AFP

पूर्व सोवियत संघ के एक जासूस ने कहा है कि पिछले साल अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव अभियान के दौरान वो उस मुलाक़ात में मौजूद थे जो राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के सबसे बड़े बेटे और रूसी वकील के बीच हुई थी.

समाचार एजेंसी एपी ने इस शख्स का नाम रिनत अख़मेत्शिन बताया है. रिनत अब लॉबिस्ट के रूप में काम करते हैं और उन्हें अमरीका और रूस की दोहरी नागरिकता हासिल है.

रिनत का दावा है कि वो मौजूदा रूसी ख़ुफ़िया एजेंसियों से जुड़े हुए नहीं हैं.

डोनल्ड ट्रंप जूनियर के वकील ने कहा है कि जून 2016 में जब ये मुलाक़ात हुई थी तो वो उस शख़्स की पृष्ठभूमि के बारे में कुछ नहीं जानते थे. राष्ट्रपति ट्रंप के दामाद और उनके तत्कालीन प्रचार प्रबंधक जैरेड कुशनर भी उस मुलाक़ात के दौरान मौजूद थे.

डोनल्ड ट्रंप पर मंडरा रहे रूसी 'संकट' के बादल

पुतिन से मुलाक़ात पर क्यों हो रही है ट्रंप की आलोचना?

इमेज कॉपीरइट Reuters

इससे पहले, जूनियर ट्रंप ने माना था का कि उस बैठक में सिर्फ़ रूसी वकील नतालिया वेसल्नित्सकाया ही मौजूद थीं.

ट्रंप के बेटे ने रूस के एक नागरिक की ओर से उन्हें भेजे गए ईमेल जारी किए थे जो बताते हैं कि उन्हें हिलेरी क्लिंटन के बारे में 'संवेदनशील' जानकारी की पेशकश की गई थी.

राष्ट्रपति चुने जाने के बाद से ही डोनल्ड ट्रंप इन आरोपों से घिरे हुए हैं कि रूस ने हिलेरी क्लिंटन के अभियान को नुक़सान पहुंचाने की कोशिश की थी.

ट्रंप ये कहते हुए इससे इनकार करते रहे हैं कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने अपने बेटे को बेकसूर बताया है.

रूस ने भी अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में हस्तक्षेप के आरोपों का बार-बार खंडन किया है.

वरिष्ठ डेमोक्रैट नेता ट्रंप से मांग कर रहे हैं कि वो उस बैठक के संबंध में उपलब्ध सभी ईमेल या अन्य दस्तावेज़ सार्वजनिक करें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे