गणितज्ञ मरियम मिर्ज़ाख़ानी का निधन

मरियम मिर्ज़ाख़ानी इमेज कॉपीरइट COURTESY OF MARYAM MIRZAKHANI

गणित की दुनिया के प्रतिष्ठित सम्मान फील्ड्स मेडल पाने वाली पहली महिला मरियम मिर्ज़ाख़ानी का अमरीका में निधन हो गया है. मरियम की उम्र 40 वर्ष थी और वे स्तन कैंसर से जूझ रही थीं जो उनकी हड्डियों में भी फैल गया था.

फील्ड्स मेडल को गणित का नोबेल पुरस्कार भी कहा जाता है. ये सम्मान हर चार साल में एक बार दिया जाता है. इस सम्मान को हासिल करने वाले की उम्र दो वर्ष से 40 वर्ष के बीच हो सकती है.

प्रोफ़ेसर मिर्ज़ाख़ानी का ताल्लुक ईरान से है जिन्हें वर्ष 2014 में 'कॉम्प्लेक्स जियोमेट्री एंड डायनामिकल सिस्टम्स' के लिए फील्ड्स मेडल से नवाज़ा गया था.

वर्ष 1977 में जन्मीं मरियम, क्रांति के बाद वाले ईरान के माहौल में पली-पढ़ीं. उन्होंने किशोरावस्था में ही इंटरनेशनल मैथेमैटिकल ओलंपियाड में दो स्वर्ण पदक अपने नाम किए थे.

उन्होंने साल 2004 में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से पीएचडी की थी. प्रोफ़ेसर मिर्ज़ाख़ानी के निधन पर उनके चाहने वालों ने शोक जताया है.

उनके एक दोस्त फ़िरोज़ नादरी ने इंस्टाग्राम पर संदेश पोस्ट किया, ''आज एक रोशनी चली गई...हमेशा के लिए चली गई.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे