18 बिल्लियों के क़ातिल को 16 साल की क़ैद

बिल्ली (फ़ाइल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट AFP

पहले क़ातिल ने बिल्लियों की चोरी की, फिर उन्हें सताया और फिर आख़िर में उसने 18 बिल्लियों को मार दिया.

ये मामला अमरीकी राज्य कैलिफ़ॉर्निया के सैन जोस शहर का है जहां अदालत में 26 वर्षीय रॉबर्ट फ़ार्मर ने अपना अपराध कबूल किया.

कोर्ट ने उसे 18 बिल्लियों को मारने के जुर्म में 16 साल क़ैद की सज़ा सुनाई है. सैंटा क्लारा की सुपीरियर कोर्ट के जज ने मामले की सुनवाई के वक़्त मारी गई हर बिल्ली का नाम पढ़कर सुनाया.

विशेषज्ञों का कहना है कि एक बिल्ली के साथ यौन उत्पीड़न के सबूत भी मिले हैं. रॉबर्ट ने ये कबूल किया कि ये अपराध उसने साल 2015 में सैन जोस में किया था.

वह उसी साल अक्टूबर में एक मृत बिल्ली के साथ अपनी कार में सोए हुए पाए गए थे और कार में बिल्ली के बाल के कुछ हिस्से बिखरे हुए थे.

ये बिल्लियां 2015 के पतझड़ के मौसम में सैन जोस के कैम्ब्रियन पार्क इलाके से ग़ायब हुई थीं जिनमें कई मृत पाई गईं और कुछ कूड़ेदान में.

रियायत की अपील!

न्यूज़ वेबसाइट मर्करी ने एक सिक्योरिटी कैमरे के वीडियो फुटेज़ के हवाले से कहा है कि एक नौजवान व्यक्ति 17 साल की एक बिल्ली को लिए जा रहा था.

स्थानीय लोगों ने पुलिस को रॉबर्ट फार्म के बारे में बताया. इनमें गोगो नामक की भी एक बिल्ली थी जो लापता होने के बाद फिर कभी न मिल सकी.

रॉबर्ट फ़ार्मर ने जानवरों पर अत्याचार के 21 अपराध क़बूल कर लिए जिनमें 18 बिल्लियों को जान से मारने और तीन को घायल करना शामिल था.

रॉबर्ट फ़ार्मर के वकील ने उनकी ओर से कोर्ट में एक चिट्ठी पढ़कर सुनाई जिसमें उन्होंने कहा कि "ऐसा लगता है कि ये अपराध किसी और ने किए हैं, लेकिन मैं जानता हूँ कि वो मैं ही था. यह समझना बहुत मुश्किल है कि मैंने ऐसा किया. मैंने लोगों के परिवार के एक सदस्य की चोरी की. हक़ीक़त तो ये है कि मैं होश में नहीं था और इसकी कोई सफ़ाई नहीं है."

सांता क्लारा काउंटी के डिप्टी डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी एलेक्जेंड्रा एलिस ने इस चिट्ठी को नरमदिली हासिल करने की कोशिश क़रार देते हुए खारिज़ कर दिया.

इसके अलावा सजा खत्म होने के बाद रॉबर्ट फ़ार्मर को कोई पालतू जानवर रखने या देखभाल करने में भी दस साल तक के लिए प्रतिबंधित किया गया है और उन्हें कैंब्रियन पार्क क्षेत्र से दूर रहने का भी आदेश दिया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे