डोनल्ड ट्रंप के बेटे और दामाद से होगी पूछताछ

अमरीका इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ट्रंप जूनियर, जैरेड कशनर और ट्रंप के कैंपेन मैनेजर

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के बड़े बेटे, उनके दामाद और पूर्व कैंपेन मैनेजर की सीनेट कमेटी के सामने पेशी होगी जहाँ वो अपना बयान दर्ज कराएंगे.

यह कमेटी 2016 में अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हस्तक्षेप की जांच कर रही है. ट्रंप के बड़े बेटे डोनल्ड ट्रंप जूनियर, दामाद जैरेड कशनर और कैंपेन मैनेजर पॉल मैनफोर्ट रूसी अधिकारियों से संबध रखने के मामले में संदिग्ध हैं.

हालांकि ट्रंप और उनके सहयोगियों ने रूस से किसी भी तरह के संबंधों से इनकार किया है. इस बीच ट्रंप ने कहा है कि अगर उन्हें पता होता कि जेफ़ सेशन इस जांच के ख़ुद को अलग कर लेंगे को तो उन्हें (सेशन को) अटॉर्नी जनरल ही नियुक्त नहीं करते.

न्यूयॉर्क टाइम्स को दिए इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा, ''अटॉर्नी जनरल का फ़ैसला बिल्कुल अनुचित था. सेशन को इस जांच से ख़ुद को अलग नहीं करना चाहिए था. अगर उन्हें ख़ुद को अलग करना था तो अटॉर्नी जनरल की ज़िम्मेदारी संभालने से पहले बताना चाहिए था. ऐसे में मैं किसी और को यहां लाता.''

रूस से संबंधों के लेकर डोनल्ड ट्रंप के दामाद भी एफ़बीआई जांच के घेरे में

ट्रंप के दामाद ने की थी रूस से गोपनीय सिस्टम पर बात: अमरीकी मीडिया

इमेज कॉपीरइट Reuters

सेशन ने ख़ुद को अमरीकी चुनाव में रूसी हस्तक्षेप से जुड़ी जांच से मार्च महीने में अलग कर लिया था. ट्रंप के इस हालिया बयान पर जेफ़ सेशन ने कुछ भी टिप्पणी नहीं की है.

इसी इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से जर्मनी के जी20 शिखर वार्ता में एक डिनर पर 15 मिनट तक बात हई थी.

ट्रंप ने कहा कि दोनों के बीच ख़ुशनुमा माहौल में बातचीत हुई थी. ट्रंप ने यह भी कहा कि उन्होंने पुतिन से बच्चों को गोद लेने के बारे में भी बात की थी. रूस ने अमरीकियों द्वारा रूसी अनाथ बच्चों को गोद लेने पर पाबंदी लगा रखी है.

पुतिन से दूसरी मुलाक़ात की बात भी सामने आई थी लेकिन बाद में राष्ट्रपति ट्रंप ने इस ख़बर को ख़ारिज कर दिया था.

बुधवार को सीनेट जु़डिशरी कमेटी ने कहा कि ट्रंप जूनियर और मैनफोर्ट को 26 जुलाई की एक सुनवाई में बयान दर्ज कराने के लिए कहा गया है.

वहीं कशनर को खुफिया एजेंसी के सवालों का जवाब बंद कमरे के भीतर 24 जुलाई को देना है. पिछले साल ये सभी एक रूसी वकील के साथ बैठक में शामिल हुए थे जिसमें हिलरी क्लिंटन को नुक़सान पहुंचाने की बात कही गई थी. हिलरी क्लिंटन राष्ट्रपति चुनाव में ट्रप की प्रतिद्वंद्वी थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे