मिशिगन मर्डर केस: तोता बना गवाह, पति की हत्या में महिला दोषी करार

हत्या इमेज कॉपीरइट ABC

अमरीका के मिशिगन में एक महिला को पति की हत्या के मामले में तोते के 'गवाह' बनने के बाद दोषी ठहराया गया है.

ग्लेन्ना दुरम ने 2015 में तोते के सामने अपने पति मार्टिन पर पांच गोलियां चलाई थी. उसके बाद उसने खुद को गोली मारकर आत्महत्या की कोशिश भी की.

मार्टिन की पूर्व पत्नी ने कहा कि तोते ने उनकी (मार्टिन की) आवाज़ निकालकर 'गोली मत चलाओ' बार-बार कहा. हालांकि बड नाम के इस अफ्रीकी तोते को कोर्ट में सुनवाई के दौरान नहीं लाया गया.

जूरी ने पाया कि 49 वर्षीय ग्लेन्ना हत्या की दोषी है. उन्हें अगले महीने सजा सुनाई जाएगी.

घटना में ग्लेन्ना के सिर में चोट लगी थी. हालांकि वह बच गई. घटना मिशिगन में उनके सैंड लेक स्थित घर में हुई थी.

पांच हज़ार साल पुराने मर्डर केस की पुलिस जाँच अब

पवित्र स्थल के पास इसराइली पुलिसकर्मियों की हत्या

दो साल में न्याय

मार्टिन की मां लिलियन ने कहा कि उन्हें ये देखकर बहुत दुख हो रहा कि दोषी ठहराई गई दुरम में पछतावे का भाव नहीं है.

उन्होंने कहा कि न्याय मिलने में देर हो रही है, दो साल का वक़्त कम नहीं होता है.

मार्टिन की पूर्व पत्नी अब उस तोते का ख़्याल रखती हैं. उन्होंने कहा, "तोता उस रात की पूरी बातचीत को दोहरा रहा था और वह बातचीत 'गोली मत चलाना' पर जाकर खत्म हो गई."

पीड़ित के माता-पिता भी इस बात पर भरोसा करते हैं कि यह संभव है कि तोते ने उनकी बातचीत सुनी थी, तभी उनकी आखिरी बातचीत वह दोहरा रहा था.

मार्टिन की मां ने कहा, "यह पक्षी हर बात पकड़ लेता है. वह कुछ भी बोल सकता है. उसकी ज़ुबान बहुत साफ है."

इस मामले की सुनवाई के दौरान वकील गवाह के तौर पर तोते को पेश करने की अनुमति की भी चाहते थे. हालांकि बाद में इसे खारिज कर दिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)