पवित्र स्थल में फ़लस्तीनियों की वापसी

इमेज कॉपीरइट Getty Images

यरुशलम स्थित पवित्र स्थल से सुरक्षा उपकरण हटाए जाने के बाद फ़लस्तीनियों ने अपना बहिष्कार ख़त्म कर दिया है.

इसराइल की ओर से सुरक्षा उपकरण हटाने के साथ ही फ़लस्तीनियों ने पवित्र स्थल के परिसर में दाख़िल होकर इबादत की है.

टेंपल माउँट या हरम अल शरीफ़ के नाम से मशहूर इस जगह पर 14 जुलाई को दो इसराइली पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी.

इस घटना के बाद इसराइली अधिकारियों ने पवित्र स्थल के प्रवेश द्वार पर मेटल डिटेक्टर लगाए थे. इसके विरोध में फ़लस्तीनियों ने लगभग एक हफ्ते तक जमकर प्रदर्शन किया.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption फ़लस्तीनियों ने मेटल डिटेक्टरों से गुज़कर पवित्र स्थल में दाख़िल होने से इंकार कर दिया था.

कुल मिलाकर दो हफ्ते तक गतिरोध जारी रहा. इस बीच यरुशलम में कई जगहों पर हिंसक झड़पें हुईं जिनमें कम से कम सात लोग मारे गए थे.

पिछले ही हफ्ते फ़लस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने कहा था कि इसराइल जब तक पवित्र स्थल से अतिरिक्त सुरक्षा इंतज़ाम नहीं हटाता, तब तक उसके साथ हर तरह का संपर्क बंद रहेगा.

इस गतिरोध को दूर करने के लिए अमरीका और जॉर्डन ने काफी कोशिश की थी. जॉर्डन में फ़लस्तीनियों की बड़ी आबादी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे