पुतिन ने 755 अमरीकी राजनयिकों से रूस छोड़ने को कहा

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption निष्कासन के बाद रूस में अमरिकी राजनयिकों की संख्या 455 हो जाएगी

अमरीकी प्रतिबंधों की जवाबी कार्रवाई में रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने 755 अमरिकी राजनयिकों को रूस छोड़ने को कहा है. साथ ही पुतिन ने यह भी कहा कि वो जल्द ही दोनों देशों के बीच संबंधों में सुधार को नहीं देख रहे हैं.

हालांकि यह फ़ैसला शुक्रवार को ले लिया गया था लेकिन पुतिन ने संख्या की पुष्टि अब की है जिन्हें एक सितंबर तक रूस छोड़ने को कहा गया है. यानी अब एक सितंबर के बाद रूस में अमरीकी कर्मचारियों की संख्या वाशिंगटन के बराबर 455 हो जाएगी.

वाशिंगटन में बीबीसी संवाददाता लॉरा बाइकेर ने कहा, 'यह आधुनिक इतिहास में किसी भी देश से राजनयिकों का सबसे बड़ा निष्कासन है.'

पुतिन मोह कहीं ट्रंप को मुश्किलों में न डाल दे!

रूस पर डोनल्ड ट्रंप के हाथ बांधेगी अमरीकी संसद

मॉस्को में बीबीसी के सारा रेन्सफोर्ड ने बताया, 'इसमें रूस में अमरीकी मिशन के लिए काम कर रहे रूसी कर्मचारी भी शामिल हैं.' उन्होंने कहा कि मॉस्को के साथ ही व्लादिवोस्तोक और सेंट पीटर्सबर्ग स्थित दूतावास के कर्मचारी भी इससे प्रभावित हुए हैं.

अमरीका ने रूस के इस क़दम को अफ़सोसजनक बताया है. अमरीकी स्टेट डिपार्टमेंट के एक अधिकारी ने कहा, 'हम इसके प्रभाव का आकलन कर रहे हैं और साथ ही कि कैसे इसका जवाब दिया जाए.'

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption रूस ने मॉस्को के बाहरी इलाके में स्थित इस डाचा (बंगले) के इस्तेमाल पर भी रोक लगाई

और कड़े क़दम उठाने के ख़िलाफ़ हैं पुतिन

पुतिन ने कहा, '1000 से अधिक लोग काम कर रहे थे और अब भी कर रहे हैं, लेकिन इनमें से 755 लोगों को अब रूस में अपनी गतिविधियों को रोकना होगा.'

उन्होंने कहा कि वो और क़दम उठा सकते थे लेकिन अभी वो इसके ख़िलाफ़ हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सीरिया में अप्रसार क्षेत्र का निर्माण साथ काम करने का ठोस परिणाम है.

हालांकि, सामान्य संबंधों के संदर्भ में उन्होंने कहा, 'हमने स्थिति बेहतर हो इसके लिए काफ़ी लंबे समय तक इंतज़ार किया. स्थिति बदल भी रही है लेकिन तुरंत ही इसमें सुधार हो इसकी संभावना कम ही दिखती है.'

रूस ने इसके साथ ही अमरीकी राजनयिकों द्वारा इस्तेमाल की जा रही हॉलिडे प्रॉपर्टी और गोदाम को भी वापस लेने की घोषणा की.

वर्तमान अमरिकी प्रतिबंध 2014 में रूस के क्रिमिया पर कब्ज़े और हालिया अमरिकी चुनाव में रूस की दख़लअंदाजी के संबंध में है.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption रूस ने मॉस्को के इस गोदाम के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी है

ओबामा ने हटाए थे 35 रूसी राजनयिक

गौरतलब है कि दिसंबर में ओबामा प्रशासन ने हिलेरी क्लिंटन के अभियान के कथित हैकिंग के जवाब में अमरीका में दो रूसी अहाते को अपने कब्ज़े में लेने के साथ ही 35 रूसी राजनयिकों को निष्कासित किया था.

व्हाइट हाउस की आपत्तियों के बावज़ूद रूस पर ताज़ा अमरीकी प्रतिबंधों को कांग्रेस के दोनों सदनों ने अनुमोदन किया था.

अमरीकी ख़ुफिया विभाग का मानना है कि रूस ने डोनल्ड ट्रंप के पक्ष में चुनाव को घुमाने की कोशिश की और अब कई जांच चल रही है कि क्या उनके अभियान में उन्हें किसी की मदद मिली.

रूस ने इस तरह के किसी भी दख़ल से इंकार करता रहा है और ट्रम्प भी लगातार कहते रहे कि कोई मिलीभगत नहीं है.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
रूस और अमरीका

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे