रूस पर नए प्रतिबंध लगाने के बिल पर ट्रंप ने दस्तखत किए

डोनल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अनमने ही सही पर रूस के ख़िलाफ़ नए प्रतिबंध लगाने संबंधी विधेयक पर हस्ताक्षर कर दिए हैं.

इस विधेयक को सीनेट की मंज़ूरी पहले ही मिल चुकी है.

विधेयक में ईरान और उत्तर कोरिया पर भी प्रतिबंध लगाए गए हैं. नए क़ानून के तहत राष्ट्रपति ट्रंप की उन शक्तियों को सीमित कर दिया गया है जिनसे वह रूस पर लगे प्रतिबंधों को खुद-ब-खुद वापस ले सकें.

इस विधेयक का मकसद बीते साल हुए अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में कथित दखलअंदाज़ी और सीरिया और यूक्रेन में आक्रामकता के लिए रूस को दंडित करना है.

रूस की तीखी प्रतिक्रिया

रूस ने प्रतिबंधों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. प्रधानमंत्री दिमित्रि मेदवेदेव ने कहा है कि इसका सीधा मतलब है कि अमरीका ने रूस के ख़िलाफ़ पूरी तरह से व्यापारिक जंग का एलान कर दिया है.

पुतिन ने 755 अमरीकी राजनयिकों से रूस छोड़ने को कहा

पुतिन मोह कहीं ट्रंप को मुश्किलों में न डाल दे!

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ईरान ने कहा है कि नए प्रतिबंधों से परमाणु समझौते का उल्लंघन हुआ है और वह इसका उचित और सही तरीके से जवाब देगा.

रूस अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों में किसी भी तरह की दखलअंदाज़ी से इनकार करता रहा है और राष्ट्रपति ट्रंप ने भी उन आरोपों को ख़ारिज़ किया है जिनमें कहा गया है कि उनके प्रचार प्रबंधकों ने हिलेरी क्लिंटन के ख़िलाफ़ जीत हासिल करने के लिए रूस की मदद ली.

रूस पर डोनल्ड ट्रंप के हाथ बांधेगी अमरीकी संसद

पिछले हफ्ते अमरीकी प्रतिबंधों की जवाबी कार्रवाई में रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने 755 अमरिकी राजनयिकों को रूस छोड़ने को कहा है. साथ ही पुतिन ने यह भी कहा कि वो जल्द ही दोनों देशों के बीच संबंधों में सुधार को नहीं देख रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे