पाकिस्तानः तालिबान ने निकाली महिलाओं के लिए अंग्रेज़ी पत्रिका

इमेज कॉपीरइट SUNNATEKHULA

तहरीक़-ए-तालिबान पाकिस्तान के प्रमुख मुल्ला फ़जलुल्लाह की पत्नी ने कहा है कि लड़कियों और लड़कों की कम उम्र में शादी कर देनी चाहिए ताकि वे रास्ता भटकने से बच सकें.

उन्होंने ये बात महिलाओं को जिहाद की ओर आकर्षित करने की कोशिश में तालिबान की ओर से प्रकाशित होने वाले एक प्रचार पत्रिका में कही.

फेसबुक से लाखों कमाएंगी ये पाकिस्तानी महिलाएँ

'ऑनर किलिंग' का शिकार हुईं तीन पाकिस्तानी महिलाएं?

तालिबान ने महिलाओं के लिए अंग्रेज़ी भाषा में मैग्ज़ीन का पहला संस्करण जारी किया है.

पत्रिका में मुल्ला फ़जलुल्लाह की पत्नी के साक्ष्ताकार के अलावा एक छह वर्षीय बच्ची की कहानी भी प्रकाशित की गई है जो जेहादी बनना चाहती है.

सुन्नत-ए-खुला में खुले आम महिलाओं को जिहाद की ओर आने के लिए कहा जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption सांकेतिक तस्वीर

इस पत्रिका में एक डॉक्टर महिला ने भी अपनी कहानी बताया है कि उन्होंने किस तरह इस्लाम को अपनाने के बाद पश्चिमी पढ़ाई और जीवन से खुद को अलग कर लिया.

तालिबान के प्रमुख मिला फजलुल्लाह की पत्नी ने कहा कि लड़कियों को हथगोले और छोटे हथियार चलाना सीखना चाहिए और उसके उन्हें जिहादी प्रशिक्षण प्राप्त करना चाहिए.

तहरीके तालिबान पाकिस्तान की ओर से प्रकाशित होने वाले पत्रिका के कवर पर एक लड़की की तस्वीर है जो सिर से पाँव तक ढंकी है.

पत्रिका के संपादकीय में कहा गया है 'हम मुसलमान महिलाओं को सलाह दे रहे हैं कि वे जिहाद में अपना योगदान करें.'

पत्रिका में जिहाद में शामिल होने की चाह रखने वाली महिलाओं के लिए सलाहें भी दी गई हैं.

एक और संपादकीय में कहा गया है कि भारत पाकिस्तान पर हमला करना चाहता है.

तालिबान पाकिस्तान लगातार उर्दू और अंग्रेज़ी में जिहादी मैग्ज़ीन प्रकाशित करती रही है ताकि अधिक से अधिक लोगों को भर्ती कर सके.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे