अमरीका ने दिया पेरिस समझौते से बाहर आने का नोटिस

डोनल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका में ट्रंप प्रशासन ने नोटिफिकेशन जारी कर साल 2015 के पेरिस जलवायु समझौते से बाहर होने का इरादा जाहिर किया है. ट्रंप प्रशासन ने संयुक्त राष्ट्र को लिखित में इसकी सूचना दी.

हालांकि, संयुक्त राष्ट्र को भेजे नोटिस में अमरीका के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि अमरीका बातचीत की प्रक्रिया में शामिल रहेगा.

अमरीकी बयान में कहा गया है, "आज, अमरीका ने संयुक्त राष्ट्र को संदेश दिया है कि अमरीका पेरिस समझौते से अलग होने की उपयुक्त अवधि आते ही इससे अलग होना चाहता है. अमरीका अपने हितों के संरक्षण और भविष्य के सभी नीतिगत विकल्पों को खुला रखने के लिए जयवायु परिवर्तन को लेकर होने वाली अंतराष्ट्रीय बातचीत और बैठकों में शऱीक होता रहेगा. "

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने जून में पहली बार समझौते से बाहर आने की इच्छा जाहिर की थी. इसे लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनकी काफी आलोचना हुई थी.

ट्रंप ने कहा था कि ये समझौता अमरीका को 'दंडित' करता है और अमरीका में इसकी वजह से लाखों नौकरियां चली जाएंगी.

ट्रंप की टा टा के बाद पेरिस समझौते का क्या ?

दाँव पर लगा है पश्चिमी सभ्यता का भविष्य: ट्रंप

इमेज कॉपीरइट Str

अमरीका की ओर से शुक्रवार को किए गए एलान को सांकेतिक तौर पर ही देखा जा रहा है. इसकी वजह ये है कि समझौते से अलग होने की चाहत रखने वाला कोई भी देश 4 नवंबर 2019 के पहले आधिकारिक तौर पर अपने इरादे का एलान नहीं कर सकता है.

इसके बाद समझौते से अलग होने की प्रक्रिया में एक और साल लगेगा.

इसके मायने ये हैं कि ये प्रक्रिया साल 2020 में होने वाले अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव के हफ्तों बाद पूरी होगी.

नए राष्ट्रपति समझौते में दोबारा शामिल होने का फ़ैसला कर सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे