सयुंक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों के बाद उत्तर कोरिया ने अमरीका को दी धमकी

उत्तर कोरिया इमेज कॉपीरइट AFP

चीन ने उत्तर कोरिया के खिलाफ़ संयुक्त राष्ट्र के नए प्रतिबंधों पर अपनी रजामंदी देने के बाद उत्तर कोरिया से मिसाइल परिक्षण रोकने का आग्रह किया है.

हालांकि, उत्तर कोरिया ने सयुंक्त राष्ट्र की ओर से नए प्रतिबंध लगाए जाने के बाद से अब तक कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दी है.

लेकिन उत्तर कोरिया की सत्तारूढ़ राजनीतिक पार्टी के अख़बार रोडोंग सिनमन में छपे संपादकीय में अमरीका को नए प्रतिबंधों पर नतीजे भुगतने की धमकी दी है.

संपादकीय में लिखा गया है, "अमरीका जिस दिन हमारे देश को परमाणु बम और प्रतिबंधों से डराने की जुर्रत करेगा उस दिन अमरीका एक आग के दरिया में बदल जाएगा जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती."

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने उत्तर कोरियाई विदेश मंत्री के साथ लंबी बातचीत होने की बात कही है.

चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने फिलीपींस के मनीला में उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री योंग हो से मुलाकात की.

चीन ने भी उत्तर कोरिया का साथ छोड़ा

उत्तर कोरिया के साथ युद्ध हुआ तो कितनी तबाही

इस दौरान उन्होंने री योंग हो से सयुंक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों का पालन करने का आग्रह किया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग-उन

हालांकि, उन्होंने इस बात का जिक्र नहीं किया कि उत्तर कोरियाई नेता ने इस आग्रह का क्या जवाब दिया.

सयुंक्त राष्ट्र की ओर से उत्तर कोरिया पर लगाए गए ताजा प्रतिबंधों को सभी सदस्यों की सहमति से पास कर लिया गया है.

चीनी विदेश मंत्री वेंग ने इन प्रतिबंधों को जरूरी बताया है लेकिन उन्होंने कहा है कि ये प्रतिबंध अंतिम लक्ष्य नहीं हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने कहा है कि वे उत्तर कोरिया को शांति से रहने और नए परिक्षण करके अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को भड़काने का काम न करने को कह चुके.

क्या उत्तर कोरिया की मिसाइलें नकली हैं?

चीनी नेता ने अमरीका और दक्षिण कोरिया को भी तनाव न बढ़ाने की सलाह दी है.

उन्होंने कहा है कि स्थिति बेहद गंभीर है लेकिन ऐसे मोड़ पर भी है जहां बातचीत हो सकती है.

संयुक्त राष्ट्र में अमरीकी राजदूत निकी हेली ने इन्हें एक समय में किसी भी देश पर लगाई गई सबसे कड़ी पाबंदियां बताया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)