उ. कोरिया ने नासमझी की तो हम हमले को तैयार: डोनाल्ड ट्रंप

ट्रंप और माइक पेंस इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि अमरीकी सेना उत्तर कोरिया से निपटने के लिए हर तरह से तैयार है.

उत्तर कोरिया ने बुधवार को प्रशांत महासागर में अमरीकी द्वीप गुआम पर हमले की धमकी दी थी, तभी से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है.

दोनों तरफ़ से लगातार तीखी बयानबाज़ी जारी है.

डोनल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है, "अगर उत्तर कोरिया कोई नासमझी का कदम उठाता है तो हम सैन्य कदम उठाने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. उम्मीद करता हूं कि किम जोंग उन कोई और रास्ता अपनाएंगे.!"

इससे पहले उत्तर कोरिया ने डोनल्ड ट्रंप को कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु युद्ध के मुहाने पर लाने का आरोप लगाया था.

अमरीका ने उत्तर कोरिया पर हमला किया तो चीन चुप नहीं रहेगा: चीनी मीडिया

युद्ध के डर से उत्तर कोरिया के पड़ोसी घबराए

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ख़तरे की चेतावनी

वहीं प्रशांत क्षेत्र के द्वीप में होमलैंड सिक्योरिटी एजेंसी ने शुक्रवार को गुआम के लोगों के लिए मिसाइल हमले के ख़तरे के मद्देनज़र कुछ हिदायतें जारी की हैं.

इसमें कहा गया है, ''अगर आग का गोला दिखे तो उसकी तरफ न देखें, ये आपको अंधा कर सकता है. आप ज़मीन पर सपाट लेट जाएं और अपना सिर ढंक लें. धमाका कुछ दूरी पर हो तो धमाके की लहर के कुछ दूर तक पहुंचने में 30 सेकेंड लग सकते हैं."

डोनल्ड ट्रंप के इस ताज़ा ट्वीट से कुछ घंटों पहले अमरीकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने इस संकट के शांतिपूर्ण समाधान पर ज़ोर देकर तनाव कम करने की कोशिश की थी.

वो हथियार जिन पर इतराता है उत्तर कोरिया

इमेज कॉपीरइट AFP

राजनयिक कोशिशें

कैलिफ़ोर्निया में गुरुवार को जेम्स मैटिस ने कहा कि रक्षा मंत्री होने के नाते उनका काम है कि वो किसी भी संघर्ष के लिए तैयार रहें.

लेकिन उन्होंने कहा कि अमरीकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन और संयुक्त राष्ट्र में अमरीकी राजदूत निकी हेली के प्रयासों से राजनयिक नतीजे आ रहे हैं.

उत्तर कोरिया के साथ संभावित युद्ध को देखते हुए अमरीकी सेना की तैयारी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अमरीका इसके लिए तैयार है लेकिन उन्होंने ये भी कहा कि वो दुश्मन को पहले से ये नहीं बताएंगे कि वो क्या करने वाले हैं.

अमरीका-उत्तर कोरिया तनाव के बीच रूस की मिसाइलें मुस्तैद

अमरीका ने उत्तर कोरिया पर हमला किया तो चीन चुप नहीं रहेगा: चीनी मीडिया

इमेज कॉपीरइट Alamy
Image caption उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन

वहीं शुक्रवार को उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए ने आरोप लगाया है कि अमरीका 'कोरियाई राष्ट्र पर परमाणु त्रासदी थोपने की आपराधिक कोशिश कर रहा है.'

जुलाई में उत्तर कोरिया ने अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों का परिक्षण किया उसके बाद तनाव बढ़ गया है.

पिछले हफ्ते उत्तर कोरिया पर संयुक्त राष्ट्र ने नए आर्थिक प्रतिबंध लगाए जिससे उत्तर कोरिया नाराज़ था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)