क्या गुआम के बारे में ये 5 बातें आप जानते हैं?

गुआम इमेज कॉपीरइट Reuters

इस हफ़्ते अमरीका और उत्तर कोरिया में तनातनी युद्ध की धमकी तक जा पहुंची तो दुनिया भर की नज़रें अचानक से गुआम पर जा टिकी हैं.

उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया ने गुआम पर हमले की ख़बर चलाई थी. उत्तर कोरिया के सैन्य अधिकारियों ने योजना पेश की कि कैसे उत्तर कोरियाई मिसाइलें प्रशांत महासागर के इस द्वीप को इसी महीने निशाने पर लेंगी.

उत्तर कोरिया ने यह धमकी अमरीकी राष्ट्रपति के उस बयान के बाद दी जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर उत्तर कोरिया का आक्रामक व्यवहार नहीं थमा तो उसे ऐसे हमले का सामना करना पड़ेगा जिसे दुनिया ने कभी नहीं देखा होगा.

गुआम पर क्यों हमला करना चाहता है उत्तर कोरिया?

अमरीकी द्वीप गुआम पर हमले की तैयारी में उत्तर कोरिया

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इस तनाव के बीच एक खुफिया रिपोर्ट यह भी आई कि उत्तर कोरिया की मिसाइलें छोटे परमाणु हथियारों से लैस होने में सक्षम हैं.

गुआम अपेक्षाकृत एक अलग-थलग पड़ा हुआ द्वीप है जिसकी पहचान अमरीकी सैन्य ठिकाने के रूप में है. गुआम के बारे में हम आपको पांच बातें बता रहे हैं जो काफ़ी दिलचस्प हैं-

गुआम अमरीका का कैसे हुआ?

  • गुआम में पुर्तगाली खोजकर्ता फ्रेडिनेंड मजेलन की दस्तक के 40 साल बाद 1565 में स्पेन ने इस पर दावा किया. 1898 में स्पेन-अमरीका युद्ध तक गुआम पर स्पेन का शासन रहा. इसके बाद स्पेन ने पेरिस संधि के तहत गुआम को अमरीका को सौंप दिया. 1941 में पर्ल हार्बर हमले के बाद गुआम पर जापान का अस्थायी रूप से नियंत्रण रहा. हालांकि तीन साल बाद मित्र बलों ने गुआम को फिर से अपने नियंत्रण में ले लिया. गुआम 1950 में आधिकारिक रूप से अमरीकी क्षेत्र बना और यह अमरीका के डिपार्टमेंट ऑफ नेवी के अंतर्गत आता है.
इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन
  • 1950 में ही अमरीकी कांग्रेस ने ऑर्गेनिक एक्ट ऑफ गुआम पास किया और वहां के नागरिकों को अमरीकी नागरिकता मिली. हालांकि गुआम के लोग अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में वोट नहीं डालते हैं. गुआम में 1970 में पहली बार एक गवर्नर को चुना गया. 1972 के बाद से अमरीका के हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में गुआम का एक नॉनवोटिंग डेलिगेट है.

सात हज़ार अमरीकी सैनिक

  • गुआम में अमरीकी नेवी का एक बेस है. इसके साथ ही वहां अमरीकी एयरफ़ोर्स का एंडरसन एयरफ़ोर्स बेस है. ये द्वीप के उत्तर-पूर्व में स्थित हैं. अमरीकी एयरफोर्स बेस पर बी-52 बमवर्षक और लड़ाकू विमान तैनात हैं. अमरीकी नेवी बेस द्वीप के दक्षिणी-पश्चिमी हिस्से में है. यहां परमाणु शक्ति से लैस युद्धपोत तैनात हैं. समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक़ क़रीब सात हज़ार अमरीकी सैनिक अपने परिवार के साथ यहां रहते हैं. यहां की कुल आबादी एक लाख 60 हज़ार है. यहां का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल ट्यूमोन दो सैन्य ठिकानों के बीच में है.
इमेज कॉपीरइट Reuters

हवाई की तुलना में गुआम उत्तर कोरिया के क़रीब

  • गुआम उत्तर कोरिया के क़रीब का अमरीकी इलाक़ा है. दोनों के बीच की दूरी 3427 किलोमीटर की दूरी है. यह दूरी हवाई और गुआम के बीच की आधी है. गुआम और हवाई के बीच की दूरी 6373 किलोमीटर है. गुआम प्रशांत महासागर में सुदूर दक्षिणी हिस्से का द्वीप है. यह माइक्रनेज़ा का सबसे बड़ा द्वीप है. इसका क्षेत्र 210 वर्ग मील में फैला हुआ हुआ है जो क़रीब शिकागो के बराबर है.
इमेज कॉपीरइट Reuters

सांस्कृतिक विविधता

  • गुआम की 40 फ़ीसदी आबादी चमोरो की है. चमोरो यहां के मूल निवासी हैं. इसके साथ ही 24 फ़ीसदी लोग फिलीपीनी हैं. 18 फ़ीसदी लोग अलग-अलग नस्ल के हैं. इसके अलावा साथ फ़ीसदी गोरे हैं और 10 प्रतिशत लोग माइक्रोनेज़न हैं. यहां की आधिकारिक भाषा अंग्रेज़ी और चमोरो है.

गुआम पहला अमरीकी क्षेत्र जहां समलैंगिक विवाह वैध

  • पांच जून 2015 को गुआम पहला अमरीकी क्षेत्र बना जहां समलैंगिक विवाह को मान्यता दी गई. गुआम में यह लागू होने के 15 दिन बाद अमरीकी सुप्रीम कोर्ट ने भी समलैंगिक विवाह को पूरे अमरीका में मान्यता दे दी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे