ख़ुशकिस्मत हूं कि मेरा रेप नहीं हुआ: लड़की की पोस्ट हुई वायरल

यौन उत्पीड़न इमेज कॉपीरइट Getty Images

इटली की एक किशोरी ने ख़ुद के साथ हुए यौन उत्पीड़न का ज़िक्र एक फ़ेसबुक पोस्ट में किया है जो वायरल हो गई है. किशोरी ने बताया है कि वह ख़ुशकिस्मत हैं कि उनका रेप नहीं हुआ.

पूर्वी शहर स्केंडिची की 18 वर्षीय अनीता फल्लानी कहती हैं कि जब वह रात में अपने घर लौट रही थीं, तब एक अनजान शख़्स ने उनसे सवाल पूछने शुरू कर दिए.

टेलर स्विफ़्ट ने कोर्ट के सामने रखी यौन शोषण की पूरी दास्तां

फल्लानी ने उसे नज़रअंदाज़ किया लेकिन वह उनका पीछा करने लगा. वह लिखती हैं, "मुझे आश्चर्य है कि मेरे पास पुरुष जैसी आज़ादी क्यों नहीं है."

फल्लानी की पोस्ट हज़ारों बार हुई शेयर

उनके शब्द इटली की मीडिया में रिपोर्ट किए गए और हज़ार से ज़्यादा बार सोशल मीडिया पर शेयर किए गए.

फल्लानी टस्कनी नामक शहर के मेयर की बेटी हैं. वह कहती हैं कि वह रात में अपने एक दोस्त के साथ घूमने गई थीं जब वह लौटते समय ट्राम का इंतज़ार कर रही थीं तब उस शख़्स ने उन्हें निशाना बनाया.

#BadTouch: मेरे भाई ने ही मेरा यौन शोषण किया

उस घटना को याद करते हुए फल्लानी फ़ेसबुक पर लिखती हैं, "तुमने मुझे देखा और तुम सोचते हो कि तुम्हें मुझे परेशान करना शुरू कर देना चाहिए. मैंने तुम्हें कभी नहीं देखा. मुझे नहीं मालूम कि तुम कौन हो लेकिन यह तुम्हें नहीं रोकता."

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

घर तक जा पहुंचा था वह शख़्स

वह लिखती हैं कि उस शख़्स ने गुड इवनिंग मिस, आप कैसी हैं?, आपका नाम क्या है?, आप जवाब क्यों नहीं देती हैं? जैसे सवाल पूछे. फल्लानी ने उन सवालों को नज़रअंदाज़ कर ट्राम ले ली और हेडफ़ोन लगा लिया. उन्हें उम्मीद थी कि वह शख़्स अब उन्हें परेशान नहीं करेगा.

लेकिन जब वह ट्राम से उतरीं तो उन्होंने देखा कि वह शख़्स उनका पीछा कर रहा है.

'लोगों को लगता था कि मुझे सेक्स की लत है'

फल्लानी कहती हैं, "मेरा रोने का मन कर रहा था. मैं ख़ुद को अकेला महसूस कर रही थी और समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं."

उन्होंने किसी को कॉल करने का नाटक किया लेकिन वह शख़्स उनका पीछा करता रहा और कहां जा रही हो, मेरे साथ आ रही हो जैसे सवाल पूछता रहा. जब वह अपने घर पहुंच गईं तो उन्होंने अपने आप को सुरक्षित महसूस किया लेकिन तब तक उनके अंदर ग़ुस्सा भर चुका था.

स्कर्ट के नीचे से खींची फोटो, लड़ रही है लड़की

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'यह असाधारण और अपवाद नहीं है'

वह कहती हैं, "मेरी कहानी बाक़ियों की तरह है. इसमें असाधारण कुछ भी नहीं है, यह एक अपवाद नहीं है, लेकिन कई चीज़ें हैं जो हमारी ज़िंदगी बना देती हैं." फल्लानी आगे कहती हैं, "मुझे आश्चर्य है कि हम ख़ुशनसीब हैं कि कितनी बार रेप किए जाने से बच जाते हैं."

उनकी स्टोरी को कई वेबसाइट और बड़े अख़बारों ने अपने यहां जगह दी और उनसे जुड़े लेखों को कई हज़ार बार सोशल मीडिया पर शेयर किया गया.

यह अभी तक साफ़ नहीं हो पाया है कि प्रशासन इस घटना की जांच कर रहा है या नहीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)