सऊदी अरब: हज के लिए मक्का जा सकेंगे क़तर के मुसलमान

सऊदी अरब इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सऊदी अरब के सुल्तान सलमान बिन अब्दुल अज़ीज

सऊदी अरब के सुल्तान सलमान बिन अब्दुल अज़ीज ने क़तर के मुसलमानों को हज के लिए अपने मक्का आने की इजाज़त दे दी है.

इसके लिए उन्हें अलग से इलेक्ट्रॉनिक परमिट जारी किए जाएंगे और सलवा बंदरगाह पर दोनों मुल्कों की सीमाओं को खोलने का फैसला किया गया है.

इसके अलावा सुल्तान सलमान बिन अब्दुल अज़ीज ने सऊदी एयरलाइंस के प्राइवेट जेट विमानों को तीर्थयात्रियों को लाने के लिए दोहा भेजने का भी फैसला किया है.

सऊदी अरब की सरकारी प्रेस एजेंसी के मुताबिक ये सेवा केवल हाजियों के लिए होगी और इसका खर्च क़तर को ही उठाना होगा.

क़तर के साथ खड़ा हुआ अमरीका

'क़तर का आख़िर कसूर क्या है?'

क़तर के 'पर कतरने' का भारतीयों पर क्या असर

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption मक्का जाने वाले हाजियों के लिए सऊदी अरब ने बोर्डर खोलने का फैसला किया है

हज यात्रा का मुद्दा

अरब देशों की तरफ से क़तर पर पाबंदी लगाए जाने के बाद क़तर ने पहली बार इसके लिए सऊदी अरब में अपना दूत भेजा था. तब जाकर सऊदी अरब ने ये फैसला लिया है.

बुधवार को जेद्दा में सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान और क़तर के शेख अब्दुल्ला बिन अली बिन अब्दुल्ला अल-थानी की मुलाकात हुई थी.

क़तर ने पिछले महीने सऊदी अरब पर क़तर के तीर्थयात्रियों को मक्का आने से रोकने और हज यात्रा के राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया था.

इसके जवाब में सऊदी अरब के विदेश मंत्री अदेल अल-जुबैर ने कहा कि क़तर इस मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिश कर रहा है.

सऊदी अरब की मांगों पर क़तर के साथ अमरीका

'क़तर 10 दिनों में माने ये 13 मांगे, नहीं तो...'

आख़िर क्यों गहरा गया क़तर संकट?

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
क़तर संकट आगे क्या होगा?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे