बार्सिलोना: खिली धूप में तन गईं बंदूक़ें

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY
Image caption बार्सलोना हमले के बाद बदहवास एक महिला

बार्सिलोना के मशहूर पर्यटन स्थल रमब्लास में अप्रत्याशित 'चरमपंथी हमले' से वहां मौजूद लोग सन्न रह गए हैं. तेज़ी से बदले घटनाक्रम के बीच लोगों में दहशत का माहौल है.

बार्सिलोना में 'चरमपंथी हमला', कई लोग हताहत

बार्सिलोना हमले की कहानी, तस्वीरों की ज़ुबानी

हमले के एक चश्मदीद आमेर अनवर ने बताया, ''दिन बहुत खूबसूरत था और धूप खिली हुई थी, शहर में हज़ारों पर्यटक थे. मैं कुछ खाने के लिए वहां पर बैठने वाला था. फिर कुछ आगे बढ़ा तो देखा कि कोई क्रैश हुआ और सड़कों पर लोग चिल्लाने लगे.''

वो बताते हैं, ''सब दौड़ने लगे तो मैं भी उसी दिशा में दौड़ने लगा. लोग चिल्ला रहे थे और कुछ ही पलों में पुलिस अधिकारी सड़कों पर आ गए थे. कुछ ही पलों में पुलिसकर्मी बंदूकें लेकर तैनात हो गए, एंबुलेंस भी आ गईं, अग्निशमन विभाग की गाड़ियां भी पहुंच गईं.''

आमेर अनवर ने बताया, ''मैंने किसी से पूछा कि क्या हुआ है तो एक दुकानदार ने बताया कि भीड़ में एक वैन घुस आई है और पांच से छह लोग गंभीर रूप से घायल हैं.''

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

वहीं एक और चश्मदीद ने बीबीसी 5 लाइव को बताया, ''मैं वैन के बहुत करीब था, शायद वैन से दस फ़ीट की दूरी पर था. मैं बाकी लोगों के साथ एक घर में घुस गया. कोई समझ नहीं पा रहा था कि क्या हो रहा है, उस वक्त एक ज़ोरदार आवाज़ सुनी थी और सब भागने लगे थे. कई लोग इसमें घायल हो गए थे.''

उन्होंने बताया, ''उस वक्त वहां पर बहुत भीड़ थी, सैकड़ों-हज़ारों लोग बाहर थे क्योंकि अच्छी धूप खिली थी. किसी को भी अंदाज़ा नहीं था कि ये बम धमाका है या कुछ और, बस सब दौड़ने लगे. हम सब नज़दीक की एक इमारत में घुस गए और वहां पर काम कर रहे लोगों ने दरवाज़े खोल दिए.''

प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक, ''जो ज़ोरदार आवाज़ हमने सुनी, हो सकता है कि वैन से लोगों को टक्कर मारने की आवाज़ थी. पहले मुझे लगा कि मैं जो गाना सुन रहा था उसकी आवाज़ है लेकिन फिर सबको भागते हुए देखा तो समझ आया कि ये क्या है.''

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
बार्सिलोना

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)