बार्सिलोना हमला: संदिग्ध हमलावर की तलाश तेज

बार्सिलोना इमेज कॉपीरइट social media
Image caption स्पेन की मीडिया ने मूसा औबकीर को हमले का संदिग्ध बताया है और सोशल मीडिया से इसकी तस्वीर ली है.

बार्सिलोना के रमब्लास में हमले के एक संदिग्ध की तलाश तेज कर दी गई है. हमले में 13 लोगों की मौत हो गई जबकि 100 से ज़्यादा घायल हुए हैं.

स्पेन की मीडिया ने 18 वर्षीय संदिग्ध का नाम मूसा औबकीर बताया है.

उस पर अपने भाई के दस्तावेजों का इस्तेमाल कर किराए पर वैन लेने का संदेह है. इसी वैन के ज़रिए लोगों को कुचला गया.

स्पेन की पुलिस का कहना है कि कैम्ब्रिल्स में एक दूसरे संभावित हमले को रोकने के दौरान पांच संदिग्ध मारे गए हैं.

पुलिस का कहना है कि विस्फ़ोटक बेल्टों को पहने हुए ये लोग बार्सिलोना में हुए पहले हमले में शामिल थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कैम्ब्रिल्स बंदरगाह के पास गोलियां चलने की आवाज़ें सुनी गई हैं जिसके बाद पुलिस ने लोगों को सड़कों से दूर रहने की चेतावनी दी है.

उधर स्पेन के प्रधानमंत्री मारियानो रख़ॉय ने तीन दिनों के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है.

क्या बार्सिलोना जैसे हमले रोकना मुश्किल है?

कब-कब हुआ भीड़ पर वाहन से हमला?

बार्सिलोना के रमब्लास में एक वैन ने कई लोगों को रौंद दिया जिसकी वजह से कम से कम 13 लोग मारे गए हैं और लगभग 100 लोग घायल हुए हैं.

इस हमले की चपेट में 18 देशों के नागरिक आए हैं जिनमें जर्मनी, रोमानिया, इटली, अलजीरिया, चीन जैसे देश शामिल हैं.

स्पेन के प्रधानमंत्री मारियानो रख़ॉय ने कहा है कि ये एक 'जिहादी हमला' है.

इमेज कॉपीरइट EPA

संदिग्ध की तस्वीर जारी

पुलिस ने एक व्यक्ति की तस्वीर भी जारी की है. पुलिस के मुताबिक ये तस्वीर उस व्यक्ति की है जिसने हमले में इस्तेमाल हुई वैन किराए पर दी थी.

स्थानीय मीडिया के मुताबिक, 20 साल के इस व्यक्ति का नाम ड्रिस है जिसका जन्म मोरक्को में हुआ है.

इमेज कॉपीरइट BARCELONA POLICE
Image caption संदिग्ध की तस्वीर

वैन ने उन लोगों को भी निशाना बनाया जो फुटपाथ पर चल रहे थे. घटनास्थल के वीडियो में नज़र आ रहा है कि हमले के बाद कई लोग सड़क पर गिरे हुए थे.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि ऐसा नहीं लगा कि वैन ग़लती से लोगों पर चढ़ गई हो, बल्कि जान-बूझकर भीड़ पर चढ़ाई गई थी.

इस्लामिक स्टेट ने ली हमले की जिम्मेदारी

तथाकथित इस्लामिक स्टेट ने दावा किया है कि बार्सिलोना हमले में उसका हाथ है और कहा है कि ये हमला 'इस्लामिक स्टेट के सैनिकों ने' किया है.

हालांकि, इस समूह ने ऐसा कोई सबूत पेश नहीं किया है जिससे उसके इस दावे की पुष्टि होती हो.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे