काबुल: अर्याना के कंसर्ट में सैंकड़ों हुए शामिल

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अफ़गानिस्तान की पॉप स्टार अर्याना सईद के कंसर्ट में सैकेड़ों की संख्या में युवाओं ने हिस्सा लिया.

अफ़गानिस्तान की राजधानी काबुल में शनिवार को हुए इस कंसर्ट का रूढ़िवादी तबका विरोध कर रहा था. कंसर्ट को लेकर हमले की आशंका भी ज़ाहिर की गई थी.

काबुल के इंटरकॉन्टिनेंट होटल में हुए कंसर्ट के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे.

बीते कुछ महीनों के दौरान काबुल में कई आत्मघाती हमले हुए हैं.

इस महिला के वीडियो पर हंगामा है क्यों बरपा?

क्या औरतों का भी है अफ़ग़ानिस्तान?

अफ़गानिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आयोजित ये कंसर्ट पहले ग़ाजी स्टेडियम में होना था. इसके लिए प्रीमियम कीमत पर तीन हज़ार से ज्यादा टिकट बेचे गए थे.

लेकिन अधिकारियों का कहना था कि वो कार्यक्रम की जगह पर सुरक्षा की गारंटी नहीं दे सकते हैं.

इसके बाद भी अर्याना सईद ने उम्मीद नहीं छोड़ी और दूसरी जगह पर कार्यक्रम पेश किया.

कंसर्ट को लेकर उनके फैन्स खुश थे.

कंसर्ट में मौजूद रहे बहार सोहेली ने कहा, " मैंने सोचा नहीं था कि इतनी बड़ी संख्या में लड़कियां यहां मौजूद होंगी. खुशकिस्मती से महिलाओं की संख्या पुरुषों से ज्यादा थी."

उन्होंने कहा, "मैंने कुछ लड़कियों से पूछा कि आप यहां क्यों आई हैं? उन्होंने मुझे बताया कि जो कंसर्ट का विरोध कर रहे थे, वो उन्हें चुनौती देने आईं हैं."

अर्याना सईद को उनके प्रसंशक अफ़गानिस्तान की किम करदाशियां बताते हैं. उनकी पहचान लंबे बालों और खास तरह के कपड़ों के लिए होती है.

वो अफ़गानिस्तान की दो प्रमुख भाषाओं डारी और पश्तो में गाती हैं. उनके संगीत में पारंपरिक और लोकगीतों का मिश्रण होता है.

कंसर्ट के एक दिन पहले मैंने अर्याना सईद का इंटरव्यू किया था. उन्होंने कहा था कि ख़तरे के बाद भी वो कंसर्ट के लिए प्रतिबद्ध हैं.

उनके कपड़ों और कार्यक्रमों को अफ़गान संस्कृति का अपमान बताने वालों की ओर से उन्हें कई बार जान से मारने की धमकी मिल चुकी है.

अर्याना सईद ने कहा कि कंसर्ट से मिलने वाली रकम को वो सारीपुल प्रांत के मिर्ज़ा ओलोंग गांव में हुए हमले में मारे गए लोगों के परिजन को दे देंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे