चीनः 350 किलोमीटर की रफ्तार से फिर दौड़ेगी बुलेट ट्रेन

चीन बुलेट ट्रेन इमेज कॉपीरइट Getty Images

चीन की हाईस्पीड ट्रेनों में अब दुनिया की सबसे तेज़ रफ़्तार ट्रेन का नाम जुड़ने जा रहा है.

यह 350 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी.

2011 में दुर्घटना की वजह से चीन में बुलेट ट्रेनों की रफ़्तार को 300 किलोमीटर प्रति घंटे तक सीमित कर दिया गया था. इस दुर्घटना में 40 लोग मारे गए थे.

तब इसकी रफ्तार 300 किलोमीटर प्रति घंटा हुआ करती थी.

बढ़ी हुई रफ़्तार से बीजिंग और शंघाई के बीच सफर एक घंटे की बचत होगी.

21 सितंबर तक चीन की सात बुलेट ट्रेनों को बढ़ी हुई रफ्तार पर चलने की इजाज़त मिल जाएगी.

फिएट को क्यों ख़रीदना चाहता है चीन का ग्रेट वॉल?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इस बार चीनी सरकार ने ट्रेनों का नाम बदलकर 'फक्सिंग' कर दिया है, जिसका चाइनीज़ में अर्थ होता है, पुनर्जीवन.

सभी ट्रेनों में उन्नत मॉनिटरिंग सिस्टम लगाए गए हैं, जिससे आपात स्थिति में ये खुद रुक जाएंगी.

देश की रेल पटरियों को भी बदला जाएगा. इसे 400 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार सहने लायक बनाया जाएगा.

यह माना जाता है कि चीन ने करीब 19,960 किलोमीटर तक हाईस्पीड पटरियों का निर्माण कर लिया है.

तो क्या चीन की अर्थव्यवस्था डूबने के कगार पर है?

2011 में हुई दुर्घटना की जांच कराई गई थी, जिसमें रेल मंत्रालय में भ्रष्टाचार उजागर हुआ था.

इसमें दो अधिकारियों को दोषी पाया गया, जिन्हें मौत की सजा दी गई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे