सैमसंग के वारिस को पांच साल की सज़ा

सैमसंग इमेज कॉपीरइट Getty Images

दक्षिण कोरिया की अदालत ने बहुराष्ट्रीय कंपनी सैमसंग कंपनी के वारिस ली जे योंग को भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में पांच साल कैद की सज़ा सुनाई है. ली साल 2014 में पिता को हार्ट अटैक आने के बाद से चेयरमैन की ज़िम्मेदारी संभाल रहे थे.

योंग को रिश्वत के एक मामले में सज़ा सुनाई गई है जिसमें पूर्व दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति पार्क गुन हे पर महाभियोग का केस चल चुका है.

मां अंडे बेचती थी, बेटा बनेगा राष्ट्रपति

सैमसंग पर रिश्वतख़ोरी मामले में छापे

इस मामले ने दक्षिण कोरिया में चेओबोल्स के नाम से चर्चित बड़ी कंपनियों के ख़िलाफ़ जनता का गुस्सा भड़का दिया है. इन कंपनियों में ह्यूंदै और एलजी जैसी बड़ी कंपनियां शामिल हैं.

अब सैमसंग का क्या होगा?

कोर्ट के इस आदेश के बाद सैमसंग के शेयरों में एक प्रतिशत की गिरावट हुई है. ली बीते तीन सालों से कंपनी की ज़िम्मेदारी संभाल रहे हैं. ली की दो बहनें सैमसंग समूहों में अलग-अलग जगहों पर प्रबंधन की ज़िम्मेदारी संभाल रही हैं. लेकिन अभी ये स्पष्ट नहीं है कि ली को सज़ा मिलने पर उन्हें बड़े पदों पर लाया जाएगा या नहीं .

छह महीने पहले ली के जेल जाने के बाद से अब तक कंपनी का कारोबारी गतिविधियां प्रभावित नहीं हुई हैं. सैमसंग ने बीती तिमाही में 11 ट्रिलयन डॉलर का लाभ दर्ज किया है.

दक्षिण कोरिया की अर्थव्यवस्था में सैमसंग एक अहम रोल अदा करती है क्योंकि सैमसंग की सेल दक्षिण कोरिया की जीडीपी का पांचवां हिस्सा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ली एक बार पहले स्वीकार कर चुके हैं कि सैमसंग ने चो सुन शिल की बेटी को घुड़सवारी में मदद के लिए एक घोड़ा और पैसे दिए थे

योंग ने आख़िर किया क्या है?

49 वर्षीय योंग पर राजनीतिक फ़ायदों के बदले पूर्व दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति पार्क गुन हे की क़रीबी सहयोगी चो सुन शिल की गैर-लाभकारी संस्था को 36 मिलियन डॉलर दान के रूप में देने का आरोप है.

योंग ने इस मामले में ख़ुद को बेकसूर बताया है. इस मामले में उन्हें 12 साल की सज़ा मिल सकती है.

अभियोजन पक्ष ने कहा था कि ली ने पाक गुन के विश्वासपात्र को दान देने के बदले सरकार से समर्थन हासिल करने की कोशिश की थी ताकि वह सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स पर अपने प्रभुत्व को मज़बूत कर सकें.

ली के बचाव पक्ष ने कहा था कि ये दान उनकी जानकारी के बिना दिया गया था. ली एक बार पहले स्वीकार कर चुके हैं कि सैमसंग ने चो सुन शिल की बेटी को घुड़सवारी में मदद करने के लिए एक घोड़ा और पैसे दिए थे.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption सियोल में कोर्ट के बाहर ली के ख़िलाफ़ प्रदर्शनकारियों ने नारे लगाए

चो सुन शिल को तीन साल की सज़ा दी जा चुकी है. ली के वकील ने शुक्रवार को कहा है कि वह कोर्ट के फ़ैसले के ख़िलाफ़ अपील करेंगे.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, ली के वकील सोंग वू चेओल ने पत्रकारों को बताया, "हमें विश्वास है कि ये फ़ैसला रद्द कर दिया जाएगा.''

क्या जेल की सज़ाकाटेंगे ली?

सियोल में मौजूद बीबीसी संवाददाता योगिता लिमये बताती हैं कि ये पहला मामला नहीं है जब दक्षिण कोरिया में किसी बड़ी कंपनी के उच्चाधिकारी को भ्रष्टाचार के आरोप में दोषी ठहराया गया हो.

लेकिन, इससे पहले ऐसे मामलों में या तो सज़ा निरस्त की गई है या राष्ट्रपति के द्वारा उनकी सज़ा माफ़ कर दी गई है.

हालांकि, नए राष्ट्रपति मून जे इन ने कहा है कि अब राष्ट्रपति की ओर से माफ़ी नहीं दी जाएगी.

ऐसे में अगर ऊंची अदालत से इस फ़ैसले को बरकरार रखा जाता है और वह अपनी पूरी सज़ा काटते हैं तो दक्षिण कोरिया के लिए ये अपने आप में नई बात होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे