जापान का दावा - उत्तर कोरिया की मिसाइलों से कोई ख़तरा नहीं

उत्तर कोरिया इमेज कॉपीरइट AFP PHOTO/KCNA VIA KNS

जापान ने उत्तर कोरिया की ओर से दागी गई तीन मिसाइलों को अपने लिए किसी तरह का ख़तरा होने से इनकार किया है.

जापानी चीफ़ कैबिनेट सेक्रेटरी योशिहिदे सुगा ने टोक्यो में पत्रकारों से बात करते हुए कहा है कि ये मिसाइलें जापान के क्षेत्र और विशेष आर्थिक क्षेत्र में नहीं गिरी हैं और इससे जापान की सुरक्षा पर सीधा असर नहीं पड़ेगा.

जापानी न्यूज़ एजेंसी क्योदो ने जापान सरकार के सूत्र के हवाले लिखा है कि ये मिसाइलें उत्तर कोरियाई सेना की ड्रिल का हिस्सा प्रतीत होती हैं.

उड़ते ही हवा में उड़ी एक मिसाइल

अमरीका सेना ने दावा किया है कि उत्तर कोरिया ने मध्यम दूरी की तीन बैलिस्टिक मिसाइलों को लॉन्च किया है.

दक्षिण कोरियाई अधिकारियों के मुताबिक, ये मिसाइलें उत्तर कोरियाई प्रांत गैंगवन से शनिवार को छह बजकर 49 मिनट (21:49 जीएमटी शुक्रवार) को लॉन्च की गई थीं जो 250 किलोमीटर तक हवा में उड़ीं.

इमेज कॉपीरइट STR/AFP/GETTY IMAGES

अमरीकी सेना ने शुरुआत में कहा था कि तीन में से दो मिसाइलें असफ़ल हो गई थीं. लेकिन इसके बाद अमरीकी सेना ने तीन में से एक मिसाइल के तुरंत धमाके में बदलने की बात कही.

वहीं, दो अन्य मिसाइलों के उत्तरी-पूर्वी दिशा में 250 किलोमीटर तक उड़ने की बात कही गई है. एक अधिकारी ने बताया है कि इन मिसाइलों को 30 मिनट के अंतराल में लॉन्च किया गया था.

दक्षिण कोरियाई रक्षा मंत्रालय ने कहा, "सेना उत्तर कोरिया की हर हरकत पर पैनी निगाह बनाए हुए है ताकि उत्तर कोरिया के भड़काऊ गतिविधियों से निपटा जा सके."

अमरीका-दक्षिण कोरिया सैन्य अभ्यास से कनेक्शन

उत्तर कोरिया ने बीते महीने अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल छोड़ने के बाद अमरीकी द्वीप गुआम पर हमला करने की धमकी दी थी.

इमेज कॉपीरइट STR/AFP/GETTY IMAGES

लेकिन अमरीकी सेना ने मिसाइल परिक्षण को अमरीका और गुआम के लिए किसी तरह का ख़तरा बताने से इनकार किया था.

अमरीका और दक्षिण कोरिया के संयुक्त सैन्य अभ्यासों की प्रतिक्रिया के रूप में उत्तर कोरिया को अक्सर ही मिसाइल परिक्षण करते देखा जा रहा है.

इस समय अमरीका और दक्षिण कोरिया के बीच बीते 21 अगस्त से साझा सैन्य अभ्यास जारी है लेकिन ये सैन्य अभ्यास बंद कमरों में कंप्यूटर सॉफ़्टवेयर पर हो रहा है.

उत्तर और दक्षिण कोरिया साल 1950 में शुरू हुए तीन सालों तक चलने वाले कोरिया युद्ध के बाद से हमेशा तनाव की स्थिति में ही रहे हैं.

(बीबीसी मॉनिटरिंग दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. आप बीबीसी मॉनिटरिंग की ख़बरें ट्विटर और फेसबुक पर भी पढ़ सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)