संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर कोरिया पर लगाए नए प्रतिबंध

इमेज कॉपीरइट KCNA

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंध लगा दिए हैं. चीन और रूस ने भी नई बंदिशों पर सहमति जताई. इस तरह उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ नए प्रतिबंध सर्वसम्मति से लगाए गए.

उत्तर कोरिया ने तीन सितंबर को छठा और अपना सबसे बड़ा परमाणु परीक्षण किया था. इसी वजह से सुरक्षा परिषद ने उस पर नए प्रतिबंध लगाए हैं.

उत्तर कोरिया का दावा है कि उसने परमाणु बम विकसित कर लिया है और इसे मिसाइल पर लोड किया जा सकता है.

प्रतिबंध का मसौदा अमरीका ने तैयार किया था जिसे चीन और रूस समेत सभी 15 सदस्यों ने मंजूरी दी.

नए प्रतिबंधों के जरिए उत्तर कोरिया के आय के स्रोत बंद करने की कोशिश की गई है.

उत्तर कोरिया से कपड़ों के निर्यात पर रोक को मंजूरी दी गई है. इसके अलावा उत्तर कोरिया मौजूदा तय सीमा तक ही कच्चे तेल का आयात कर सकेगा.

साल 2006 से संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद उत्तर कोरिया के ख़िलाफ नौ प्रस्तावों को एकमत से मंजूरी दे चुकी है.

जब एक लड़के ने किया उत्तर कोरिया को परेशान

उत्तर कोरिया नहीं जा सकेंगे अमरीकी नागरिक

इमेज कॉपीरइट KCNA

लगातार परीक्षण

अगर उ. कोरिया से जंग छिड़ी तो क्या हैं विकल्प

300 शब्दों में उ. कोरिया का मिसाइल कार्यक्रम

हाल के महीनों में उत्तर कोरिया ने कई मिसाइल परीक्षण किए हैं. ऐसे हथियारों का भी परीक्षण किया गया है जिनकी पहुंच अमरीका तक है.

पिछले दिनों ही उत्तर कोरिया ने जापान के ऊपर से एक मिसाइल दागी थी. जापान के प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे ने इसे अभूतपूर्व ख़तरा बताया था.

उत्तर कोरिया ने प्रशांत महासागर स्थित अमरीकी क्षेत्र गुआम पर भी मिसाइल हमले करने की धमकी दी है.

अगस्त में अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के विनाश की धमकी दी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)