लंदन धमाका मामले में एक संदिग्ध गिरफ़्तार

लंदन धमाका इमेज कॉपीरइट PA
Image caption पुलिस ने 45 चश्मदीदों से बात की और अभी तक 77 तस्वीरें और वीडियो प्राप्त किए हैं

लंदन के दक्षिण-पश्चिम इलाके में भूमिगत ट्रेन में हुए धमाके के संबंध में एक 18 साल के एक युवक को गिरफ़्तार किया गया है. यह धमाका शुक्रवार को हुआ था, जिसमें 30 लोग घायल हो गए थे.

युवक को डोवर इलाके से हिरासत में लिया गया, उसे केंट पुलिस स्टेशन ले जाया गया है. बाद में उसे साउथ लंदन ले जाया जाएगा.

मैट्रोपोलिटन पुलिस के डिप्टी असिस्टेंट कमिश्नर नील बासु ने कहा, ''एक व्यक्ति की गिरफ़्तारी ज़रूर हुई है, लेकिन सुरक्षा का मसला अभी भी महत्वपूर्ण है.''

मैट्रोपोलिटन पुलिस की कमिश्नर क्रेसिडा डिक ने कहा, ''इस तरह के हमलों से लंदन डरने वाला नहीं है.''

'लंदन में था कई लोगों को मारने का इरादा'

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption मैट्रोपोलिटन पुलिस कमिश्नर क्रेसिडा डिक पुलिस टीम के साथ गश्त करने उतरी

गृह सचिव एम्बर रुड ने कोब्रा एमरजेंसी कमिटी के साथ बैठक की, यह बैठक इस नतीजे पर पहुंची की शहर में चरमपंथ का ख़तरा अभी भी बहुत महत्पूर्ण है. पूरे शहर में पुलिस की मौजूदगी बढ़ा दी गई है.

धमाके की जांच में एमआई-5 के ख़ुफ़िया अधिकारी लगाए गए हैं.

इससे पहले शुक्रवार को ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने धमाके को कायरतापूर्ण हमला बताया था, उन्होंने कहा था कि धमाके का मक़सद बड़ा नुकसान पहुंचाना था.

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने भी इस हमले की निंदा की थी, उन्होंने ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा था कि बीमार और विकृत लोग इसके पीछे हैं जो मेट्रोपोलिटन पुलिस की नज़र में थे.

लंदन डरने वाला नहीं है: टेरीज़ा मे

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे