सुप्रीम कोर्ट ने किया ट्रंप के यात्रा प्रतिबंध का समर्थन

मुस्लिम महिला इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी सुप्रीम कोर्ट ने छह मुस्लिम देशों के ख़िलाफ़ यात्रा प्रतिबंध के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के फ़ैसले का समर्थन किया है और इसे पूरी तरह लागू करने का निर्देश दिया है.

सुप्रीम कोर्ट के नौ में से सात जजों ने ट्रंप प्रशासन के उस आग्रह को स्वीकार किया है जिसमें निचली अदालतों द्वारा यात्रा प्रतिबंध को लागू करने पर लगाई रोक को हटाने की मांग की गई थी.

लेकिन चाड, ईरान, लीबिया, सीरिया, सोमालिया और यमन पर लगे यात्रा प्रतिबंध संबंधी निर्देशों के सामने अभी भी क़ानूनी चुनौतियां मौजूद हैं.

जनवरी में सत्ता संभालने के बाद से राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने यात्रा प्रतिबंध संबंधी विवादास्पद नीति के तीन प्रारूप जारी किए हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption डोनल्ड ट्रंप

निचली अदालतों के जजों ने ट्रंप के यात्रा प्रतिबंध को ये कहकर ख़ारिज कर दिया था कि ये ट्रंप की 'मुस्लिमों पर प्रतिबंध' की नीति का हिस्सा है.

राष्ट्रपति ट्रंप के आदेश में उत्तर कोरिया और वेनेज़ुएला के कुछ सरकारी अधिकारियों पर प्रतिबंध भी शामिल हैं.

इन प्रतिबंधों को पहले ही निचली अदालत से अनुमोदन मिल चुका है.

इस मामले में इस हफ़्ते सैन फ़्रांसिस्को और रिचमंड की अदालत में सुनवाई होगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption फ़ाइल फ़ोटो

इसी साल जून में सुप्रीम कोर्ट ने ट्रंप के प्रतिबंध संबंधी आदेश के पहले के प्रारूप को आंशिक मंज़ूरी दी थी.

उसी आदेश में जजों ने ट्रंप प्रशासन के उस फ़ैसले को स्वीकार किया था जिसमें हर तरह के शरणार्थियों के 120 दिन तक अमरीका प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया था.

इसमें वो लोग शामिल नहीं थे जिनके अमरीका के साथ प्रामाणिक संबंध हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे