फ्रांस में पुलिस कार्रवाई में 'इस्लामी कट्टरपंथी' की मौत

  • 6 अक्तूबर 2012
फ्रांस
Image caption इस घटना में तीन पुलिसकर्मी भी घायल हो गए

फ्रांस के शहर स्ट्रॉसबर्ग में पुलिस का कहना है कि उसने आतंक-विरोधी कार्रवाई में एक व्यक्ति को गोली मार दी है. माना जा रहा है कि ये व्यक्ति चरमपंथ इस्लाम से संबंधित था और उसके तार पेरिस में एक यहूदी की दुकान पर हुए ग्रेनेड हमले से जुड़े थे.

मारे गए व्यक्ति का नाम जेरेमी सिडनी बताया गया है. अधिकारियों के अनुसार 33 वर्षीय सिडनी फ्रांस के नागरिक थे और हाल ही में उन्होंने इस्लाम धर्म अपनाया था.

फ्रांस के अधिकारी बताते हैं कि जेरेमी नशीली दवाओं के अवैध कारोबार के सिलसिले में जेल भी जा चुके हैं.

स्ट्रॉसबर्ग के अधिकारियों ने कहा कि जब पुलिस एक फ्लैट तक पहुँची तब जेरेमी ने गोली चला दी. जवाब में हुई गोलीबारी में जेरेमी बुरी तरह घायल हो गए.

इस घटना में तीन पुलिसकर्मी भी घायल हो गए.

फ्रांस भर में मारे गए आतंक-विरोधी छापों में सात अन्य संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है.

फ्रांस की मीडिया के मुताबिक ये छापे नीस और कान के अलावा पेरिस के एक इलाके में भी मारे गए.

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांड ने कहा कि सरकार कथित आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए हर कदम उठाएगी.

मैग्नम रिवॉल्वर

समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार जब पुलिस फ्लैट के अंदर दाखिल हुई तो जेरेमी सिडनी सोफे पर .357 मैग्नम रिवॉल्वर के साथ बैठे हुए थे और उनकी चलाई गई गोलियों से तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए.

सिडनी का डीएनए पेरिस के सारसेलेस इलाके के स्टोर में पाया गया है जहाँ 19 सितंबर को धमाका हुआ था. उस हमले में एक व्यक्ति घायल हो गया था.

ये हमला उसी दिन हुआ था जब फ्रांस के एक अखबार ने पैगंबर मोहम्मद के चित्र छापे थे और बाकी दुनिया में अमरीका में बनी एक इस्लाम-विरोधी फिल्म पर प्रदर्शन हो रहे थे.

पुलिस की कार्रवाई में सिडनी की हिजाब पहनी एक महिला साथी को भी गिरफ्तार किया गया.

रिपोर्टों के मुताबिक गिरफ्तार किए साथ लोगों में से एक के पास बंदूक मिली है.

संबंधित समाचार