ऐपल पर सैमसंग फिर पड़ा भारी

 शुक्रवार, 12 अक्तूबर, 2012 को 14:16 IST तक के समाचार

स्मार्टफोन बाज़ार की दो क्लिक करें धुरंधर कंपनियों ऐपल और क्लिक करें सैमसंग के बीच डाल-डाल पात-पात का खेल खत्म होता नज़र नहीं आ रहा है.

अमरीका की एक उच्च अदालत ने सैमसंग के नए फोन गैलेक्सी नेक्सस की बिक्री के मामले में एपल को झटका देते हुए बिक्री पर लगी रोक हटा दी है.

इस बीच सैमसंग ने अपने गैलेक्सी एस3 स्मार्टफोन का एक छोटा प्रारुप गैलेक्सी एस3 मिनी लॉंच किया है जिसे ऐपल के क्लिक करें आईफोन5 का तोड़ माना जा रहा है. इस फोन का स्क्रीन गैलेक्सी एस3 के मुकाबले 0.8 इंच छोटा होगा.

ये फोन गूगल के नए एंड्रॉएड ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित है. सैमसंग ने फिलहाल इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है कि इसकी बिक्री कब शुरु होगी.

उधर ऐपल पर सैमसंग को गैलेक्सी नेक्सस के मामले में मिली जीत अहम मानी जा रही है.

"स्मार्टफोन बाज़ार में प्रतिस्पर्धा इतनी कड़ी है कि ये मामला दांव पर लगे अरबों डॉलर के बजाय प्रतिस्पर्धा को धीमा करने से ज्यादा जुड़ा है."

फ्रॉस्ट एंड सलिवान से जुड़े मनोज मेनन

गैलेक्सी नेक्सस की बिक्री पर रोक लगाने वाली कैलिफोर्निया की अदालत को आड़े हाथों लेते हुए अमरीकी अदालत ने कहा है कि वो आदेश ‘अदालती दायरे से बाहर जाकर’ दिया गया था.

गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में सैमसंग गैलेक्सी टैब 10.1 की बिक्री पर अमरीका में लगी रोक भी हटा दी गई थी.

पेटेंट उल्लंघन के मामले में दोनों कंपनियां कई कानूनी मामलों में उलझी हैं.

सैमसंग ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि वो ‘पेटेंट उल्लंघन कानूनों के ज़रिए रचनाशीलता को सुरक्षित रखने के हक में हैं लेकिन पेटेंट के नाम पर प्रतिस्पर्धा को खत्म करने और ग्राहकों के लिए विकल्प खत्म करने के खिलाफ़ है.’

कंपनी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, ''अपने नए से नए उत्पादों को ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए जो भी प्रयास ज़रूरी हैं हम वो करते रहेंगे.''

ऐपल के आईफोन5 का तोड़

"पेटेंट उल्लंघन कानूनों के ज़रिए रचनाशीलता को सुरक्षित रखने के हक में हैं लेकिन पेटेंट के नाम पर प्रतिस्पर्धा को खत्म करने और ग्राहकों के लिए विकल्प खत्म करने के खिलाफ़ हैं."

सैमसंग

सैमसंग ने गैलेक्सी एस3 मिनी का लॉंच उस वक्त किया है जब बाज़ार में ऐपल के नए सात इंच के आई-पैड के लॉच की खबरें गर्म हैं.

स्मार्टफोन बाज़ार में प्रतिस्पर्धा लगातार बढ़ रही है और ऐपल-सैमसंग बाज़ार में आमने-सामने दो सबसे बड़ी कंपनियां हैं.

लेकिन कानूनी लड़ाई के मैदान में कभी सैमसंग का पलड़ा भारी है तो कभी ऐपल का.

इस साल की शुरुआत में कैलिफोर्निया की एक अदालत ने पेटेंट उल्लंघन मामले में सैमसंग पर 1.05 अरब डॉलर का जुर्माना करते हुए ऐपल को जल्द से जल्द ये रकम अदा किए जाने का आदेश दिया था.

जानकारों का मानना है कि क्लिक करें स्मार्टफोन बाज़ार में बढ़ोत्तरी की असीम संभावनाएं हैं और ऐसे में दोनों कंपनियों के बीच ये कानूनी लड़ाइयां जारी रहेंगी.

फ्रॉस्ट एंड सलिवान से जुड़े मनोज मेनन ने बीबीसी से बातचीत में बताया, ''स्मार्टफोन बाज़ार में प्रतिस्पर्धा इतनी कड़ी है कि ये मामला दांव पर लगे अरबों डॉलर के बजाय प्रतिस्पर्धा को धीमा करने से ज्यादा जुड़ा है.''

ऐपल का मानना है कि सैमसंग उसकी नकल कर बाज़ार पर कब्ज़ा जमा रहा है और वो किसी भी कीमत पर सैमसंग को फैलने से रोकना चाहता है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.