क्या संस्कृति को बढ़ावा देते हैं स्ट्रिप क्लब?

 बुधवार, 24 अक्तूबर, 2012 को 17:06 IST तक के समाचार
स्ट्रिप क्लब

न्यूयॉर्क के स्ट्रिप क्लब ने टैक्स में छूट की मांग की थी

अमरीका में न्यूयॉर्क के एक स्ट्रिप क्लब ने लैप डांस को ड्रैमेटिक आर्ट की श्रेणी में रखते हुए टैक्स में छूट की मांग की थी. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उसे ठुकरा दिया है.

लेकिन इस फ़ैसले पर जजों में ज़रूर मतभेद उभर कर आए और फ़ैसला 4-3 के बहुमत से हुआ. सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि लैप डांस लोगों में संस्कृति को बढ़ावा नहीं देता.

अल्बानी के स्ट्रिप क्लब नाइट मूव्स ने ये तर्क दिया था कि एडमिशन फी और प्राइवेट डांस को बिक्री कर से मुक्त रखना चाहिए.

लेकिन जजों ने बहुमत से ये राय रखी कि मनोरंजन क्षेत्र के उद्योगों पर टैक्स लगाए जाते हैं, जिनमें मनोरंजन पार्क और खेल आयोजन शामिल हैं.

निराशा

जजों का ये भी कहना था कि नाइट मूव्स क्लब ये साबित नहीं कर पाया कि उसकी गतिविधि स्थानीय समुदाय में सांस्कृतिक और कलात्मक प्रदर्शन को बढ़ावा देने के लिए हैं.

क्लब की ओर से पेश हुए वकीलों का कहना है कि क्लब अदालत के फ़ैसले से काफ़ी निराश है.

लेकिन न्यूयॉर्क स्टेट डिपार्टमेंट ऑफ़ टैक्सेशन एंड फाइनेंस ने पूरी अदालती कार्यवाही के दौरान ये रुख़ बनाए रखा कि ड्रैमेटिक और कला के अंतर्गत मिलने वाली कर छूट के दायरे में स्ट्रिप क्लब नहीं आता.

नाइट मूव्स स्ट्रिप क्लब पर एक लाख 24 हज़ार डॉलर का टैक्स और ब्याज बकाया है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.