फैज़ाबाद में हिंसा के बाद तनाव

  • 26 अक्तूबर 2012
फाइल फोटो
Image caption पुलिस अधिकारी फैज़ाबाद की हिंसा को पूर्व-नियोजित बता रहे हैं.

उत्तरप्रदेश के फैज़ाबाद में दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान दो समुदायों के बीच हुई झड़पों में कम से कम दो लोग मारे गए हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, तनाव को देखते हुए फैज़ाबाद में गुरूवार रात को कर्फ्यू लगाया गया था.

दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन को ही लेकर बाराबंकी में भी हिंसा की घटनाएं हुई हैं जहां तीन लोगों के घायल होने की खबर है.

हालात का जायज़ा लेने फैज़ाबाद पहुंचे उत्तरप्रदेश के पुलिस महानिदेशक एसी शर्मा ने बताया कि बुधवार को हिंसा तब भड़की जब किसी ने ये अफवाह उड़ा दी कि एक दुर्गा प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया गया है.

'पूर्व-नियोजित हिंसा'

पुलिस महानिदेशक एसी शर्मा ने बताया कि गुस्साये लोगों ने 25 दुकानों में आग लगा दी. उनका ये भी कहना है कि शुरुआती जांच से ऐसा लगता है कि ये पूरा घटनाक्रम 'पूर्व नियोजित' था.

उन्होंने बताया कि दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए निकल रहे जुलूस के दौरान शराब की तमाम दुकानें खुली थीं और जुलूस में शामिल लोग नशे में थे.

उन्होंने इस बात से इनकार किया कि किसी दुर्गा प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया गया. घटना के कुछ वीडियो पुलिस के हाथ लगे हैं जिनकी पड़ताल की जा रही है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने साम्प्रदायिक उन्माद भड़काने वालों के खिलाफ़ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है. भारतीय जनता पार्टी ने जहां इस पूरी घटना के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार बताया, वहीं कांग्रेस ने इलाके में सीआरपीएफ तैनाती की मांग की.

संबंधित समाचार