थाईलैंड में 'सुंदर' होने की कीमत

थाई महिलाएं
Image caption क्रेटाए पर अपने माता पिता और भाई बहनों की जिम्मेदारी थी

थाईलैंड में सुंदर महिलाओं के लिए काम की कोई कमी नहीं है. वो वॉशिंग पाउडर से लेकर लग्ज़री कार तक को पेश करती हैं और ग्राहक इन उत्पादों की तरफ खिंचे चले आते हैं.

इस काम में पैसे भी काफी हैं लेकिन हमेशा सुंदर दिखने की चुनौती भी है जो अकसर "प्रेटीज" यानी सुंदरियां कहलाने वाले वाली इन महिलाओं के लिए बहुत महंगी पड़ती है.

32 वर्षीय अथितिया ईयामायी उस उम्र में पहुंच गईं थी, जब बहुत सी सुंदरियां दूसरा काम तलाशना शुरू कर देती हैं. लेकिन अथितिया या क्रेटाए (इसी नाम से लोग उन्हें ज्यादा जानते थे) के लिए 100 डॉलर यानी 6 हजार रुपये प्रति दिन का काम छोड़ना आसान नहीं था. उन पर न सिर्फ अपने माता पिता और बल्कि भाई बहनों की भी जिम्मेदारी थी.

क्रेटाए ने अपने रंग रूप और चेहरे को संवारने के लिए पहले भी हजारों डॉलर खर्च किए थे. उन्होंने कई सर्जरियां कराईं. अपनी नाक को बदलवाया, अपने जबड़े को संकरा कराया और अपने स्तनों का आकार बढ़वाया.

दर्दभरी सुंदरता

लेकिन क्रेटाए की दोस्त और एक अन्य सुंदरी पिम सायसानार्द बताती हैं कि वो खुश नहीं थी.

वो कहती हैं, “क्रेटाए कहा करती थी कि अगर आपको सुंदर बनना है तो इसके लिए दर्द सहना होगा. वो बड़े कूल्हे चाहती थी ताकि वो उसके बड़े स्तनों के अनुरूप हो. वो कहती थी कि वो खुद को परिपूर्ण बनाएगी.”

कूल्हों का आकार बढ़ाने के दो तरीके हैं. ज्यादातर प्लास्टिक सर्जन सलाह देते हैं कि अपने पेट की चर्बी को कूल्हों में लगवा लिया जाए. चूंकि क्रेटाए बहुत दुबली थीं वो इस तरीके को नहीं अपना सकती थी.

उन्होंने दूसरा तरीका चुना जिसमें कृत्रिम पदार्थों यानी ‘फिलर्स’ को कूल्हों में भरा जाता है.

ये फिलर सस्ते नहीं होते हैं. सर्जरी के लिए सबसे सस्ती जगहों में से एक होने के बावजूद बैंकॉक में इनकी कीमत 80,000 बाहत यानी एक लाख चालीस हजार रुपये होती है. लेकिन क्रेटाए की दोस्त ने उनका परिचय एक व्यक्ति थानात नत्वीराकुल से कराया जो खुद को डॉ. पॉप कहते हैं.

महंगी पड़ी सस्ती सर्जरी

Image caption थाईलैंड में होने वाले अंतरराष्ट्रीय मेलों, प्रदर्शनियों और प्रॉडक्ट लॉन्च जैसे आयोजनो में इन युवतियों की खूब मांग रहती है

डॉ पॉप कोई डॉक्टर नहीं हैं और कॉस्मेटिक सर्जरी का उनका अनुभव भी बहुत सीमित है. क्रेटाए आधी कीमत यानी 40,000 बाहत में डॉ. पॉप से सर्जरी कराने के लिए समहत हो गईं.

ये साफ नहीं है कि सर्जरी के दौरान कहां गड़बड़ी हुई लेकिन क्रेटाए को फिलर लगाने के बाद ही सांस लेने में दिक्कत होने लगी.

हो सकता है कि डॉ. पॉप ने चर्बी वाले ऊतक तलाशने की बजाय क्रेटाए की धमकियों में फिलर को लगा दिया. इसके बाद वो जेल रूपी पदार्थ उनके फेंफड़ों तक पहुंच गया और जमा लगा जिससे मस्तिष्क में ऑक्सीजन पहुंचनी बंद हो गई.

अफरातफरी में डॉ. पॉप ने क्रेटाए को अस्पताल पहुंचाया जहां वो कोमा में चली गईं और कभी नहीं उठीं. तीन हफ्ते बाद उनकी मौत हो गई.

कितनी अहम है सुंदरता

एलिसा फियाबून्नांतानपोंग भी सुंदरता से चलने वाले इसी पेशे में हैं. वो मानती हैं कि क्रेटाए की सिर्फ किस्मत खराब थी, वरना कितने लोग इस तरह की सस्ती सर्जरी कराते हैं.

एलिसा कई सर्जरी करा चुकी हैं. उन्होंने 25 साल की उम्र में अपने आठ दांत निकलवाए ताकि उनके जबड़े को सही आकार दिया जा सके.

सुंदरियों को काम ज्यादातर निजी सिफारिश पर मिलता है. ऐसे बाकी सुंदरियों के संपर्क में रहना बहुत अहम होता है.

पिम साइसानर्द कहती हैं, “अगर एक सुंदरी कोई खास सर्जरी कराती हैं तो बाकी भी वैसा ही कराती हैं. अगर आप सर्जरी नहीं कराती हैं तो आप बाकियों से अलग दिखती हैं और आपको कोई काम नहीं मिलता.”

ये बात सही है कि सारी गैर कानूनी सर्जरी नाकाम नहीं रहती हैं, लेकिन जब ऐसा कुछ होता है तो क्रेटाए जैसे दर्दनाक मामले सामने आते हैं.

भ्रष्टाचार

बैकॉक के एक निजी अस्पताल में काम करने वाले डॉ. थेप वेचाविसिट का कहना है कि उनके ऐसे बहुत से लोग आ रहे हैं जो सर्जरी के जरिए अपने रंग रूप और चेहरे को संवारना चाहते हैं.

Image caption एलिसा कई बार सर्जरी करा चुकी हैं

वो बढ़ती गैर कानूनी सर्जरियों की वजह भ्रष्टाचार को बताते हैं. डॉ. वेचाविसिट का कहना है कि ऐसी सर्जरी करने वाले लोगों की पुलिस से मिलीभगत होती है. उन्हें रिश्वत दी जाती है और वो ऐसे लोगों पर कार्रवाई नहीं करते हैं.

एक सरकारी अस्पताल में त्वचा विभाग के निदेशक डॉ. जिंदा रोजानामाटिन बताते हैं, “बहुत से लोग जिन्होंने डॉक्टरों के साथ काम किया है, वो कॉस्मेटिक सर्जरी करने लग जाते हैं जो गैर कानूनी है.”

डॉ. रोजानामाटिन कहते हैं कि जन स्वास्थ्य मंत्रालय इस समस्या से अवगत है लेकिन इससे निपटने के लिए उनके पास लोग ही नहीं हैं.

क्रेटाए की मौत की मीडिया में खूब चर्चा हुई जिसके बाद डॉ. पॉप को गिरफ्तार कर लिया गया. उन्हें 13 साल की कैद और 50 हजार बाहत तक का जुर्माना हो सकता है.

संबंधित समाचार