ऐपल ने मुनाफ़े पर कम दिया टैक्स

ऐपल
Image caption इस साल के मुनाफ़े में 24 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुई है

ऐपल ने अमरीका के बाहर अपने मुनाफ़े का दो फ़ीसदी से भी कम निगम कर के रूप में दिया है. अमरीकी नियामकों को जो ब्यौरा कंपनी ने दिया है उससे ये जानकारी सामने आई है.

कंपनी ने विदेशों में 29 सितंबर तक हुए कर-पूर्व कुल 36.8 अरब डॉलर के मुनाफ़े में से 71.3 करोड़ डॉलर निगम कर के रूप में भुगतान किया है जो कि मुनाफ़े का 1.9 फीसदी है.

स्टारबक्स, फ़ेसबुक और गुगल के बाद ऐपल भी उन कंपनियों में शुमार हो गई है जिसकी पहचान कम ओवरसीज़ टैक्स का भुगतान करने वाली कंपनियों के रूप में हाल के हफ्तों में की गई है.

हालांकि ये नहीं कहा गया है कि इन कंपनियों ने कर से बचने के लिए जिन योजनाओं में निवेश किया वो गैर क़ानूनी हैं.

टैक्स हैवन

ये सभी कंपनियां ब्रिटेन में अन्य दूसरे करों के रूप में अच्छा खासा भुगतान करती रही हैं.

ऐपल ने विदेशों में कर के भुगतान का अमरीकी प्रतिभूति और विनिमय आयोग में जो ब्यौरा दिया है वो फॉर्म 10-के पृष्ठ 61 पर मौजूद है.

इस फॉर्म का इस्तेमाल सार्वजनिक कंपनियों के प्रदर्शन का लेखाजोखा रखने में किया जाता है.

पिछले साल कंपनी ने विदेशों में अपने मुनाफे का 2.5 फीसदी कर के रूप में भुगतान किया था.

ऐपल यूरोप में अपना ज्यादातर कारोबार आयरलैंड की एक सहायक कंपनी के ज़रिए करता है जहां निगम कर ब्रिटेन के मुकाबले कम है.

लेकिन आयरलैंड में भी निगम कर 12.5 फीसदी है जबकि ब्रिटेन में इसकी दर 24 फीसदी है.

सच्चाई ये है कि कई बहुराष्ट्रीय कंपनियां करीबियाई द्वीपों जैसे टैक्स हैवन देशों का इस्तेमाल कर कम निगम कर देने का रास्ता निकालती रही हैं.

संबंधित समाचार