भाँप जाती हैं महिलाएँ- पुरुष भरोसेमंद होगा या नहीं

  • 6 दिसंबर 2012
Image caption एक ही झलक में भरोसेमंद का लग जाता है पता.

चेहरे पर सच पढ़ा जा सकता है. ये जुमला आपने सुना तो होगा ही. अब उस पर यकीन भी कीजिए.

ख़ासकर जब चेहरा पढ़ने का दावा कोई महिला कर रही हो. वैसे भी ये कहा जाता है कि पुरुषों की नीयत भांपने में महिलाओं से कोई चूक नहीं होती.

लेकिन अब इसकी विश्वसनीयता पक्की हुई है. ऑस्ट्रेलिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक महिलाएं किसी अपरिचित शख्स की एक झलक देखने के बाद यह बता सकती हैं कि वह कितना भरोसेमंद होगा.

यानी कोई पुरुष किसी महिला के साथ अपने रिश्ते और यौन संबंधों में कितना ईमानदार है या होगा, इसका सटीक अंदाज़ा महिलाएं लगा सकती हैं भले ही वे उस शख्स पहली बार क्यों ना मिल रही हों.

पुरुष नहीं पढ़ पाते हैं चेहरा

इस तरह की क्षमता पुरुषों में नहीं होती. ऐसे में एक दिलचस्प सवाल यह उठता है कि महिलाओं में ऐसी क्या खासियत होती है.

जर्नल बॉयोलॉजी लेटर्स में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक महिलाओं में कोई ख़ासियत नहीं होती है लेकिन कोई पुरुष उन्हें किन नजरों से देख रहा है, उसी आधार वह अनुमान लगा लेती हैं.

यह शोध अध्ययन पर्थ स्थित पश्चिमी ऑस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालय के अनुभूति एवं व्यवहार पर अध्ययन करने वाले केंद्र एआरसी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस में हुआ है.

शोध करने वाले दल की मुखिया जिलियन रोड्स ने कहा, “महिलाओं ने जिस तरह से पुरुषों को आंका है उससे यह जाहिर होता है कि वे पुरुषों की बेवफाई को पकड़ने में कामयाब हुई हैं.”

रोड्स ने ये भी कहा, “महिलाओं ने उन पुरुषों के बेवफा होने की आशंका ज़्यादा की जो ज़्यादा मर्दाना दिखे और उनका इतिहास भी उन्हें बेवफा ठहरा रहा था.”

इस अध्ययन में 34 पुरुषों और 34 महिलाओं को एक साथ 189 श्वेत वयस्कों की रंगीन फोटो दिखाई गई और उन्हें भरोसे के आधार पर रेट करने को कहा गया.

आकर्षक पुरुष हो सकता है बेवफ़ा

शोध में जुटे विश्लेषकों ने इनके जवाब को बाद में 189 लोगों के खुद बताए गए सेक्स संबंधों से जुड़े इतिहास से मिलाया गया.

इसके बाद यह पता चला है कि महिलाओं ने जिन्हें भरोसेमंद बताया है वो वाकई अपने रिश्तों में भरोसेमंद थे.

रिपोर्ट में कहा गया है, “हमें पहली बार भरोसेमंद होने संबंधी मसले पर सबूत मिले हैं जो पूरी तरह से केवल चेहरा देखने पर आधारित है.”

दूसरी तरफ पुरुष में ऐसी कोई बात नहीं दिखी. पुरुषों ने ज़्यादातर मामलों में आकर्षक महिलाओं को भरोसेमंद नहीं बताया लेकिन इसकी पुष्टि करने वाला कोई सबूत नहीं मिला.

आपसी भरोसा और विश्वास यौन संबंधों के नजरिए से बेहद अहम पहलू है और महिलाएं इस मामले में पुरुषों के मुक़ाबले कहीं ज्यादा भरोसेमंद साथी चुन सकती है. ये रिपोर्ट तो यही बता रही है.

महिलाओं ने भरोसेमंद पुरुषों को आंकने में उनके आकर्षण वाले पहलू को नज़रअंदाज़ किया. यानी आप आकर्षक हैं, तो यह आपके भरोसेमंद होने की गारंटी नहीं है.

संबंधित समाचार