देश का गौरव हैं मलाला : ज़रदारी

 रविवार, 9 दिसंबर, 2012 को 03:35 IST तक के समाचार
मलाला

मलाला ने बीबीसी उर्दू के लिए डायरी भी लिखीं हैं

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने तालिबान के हमले का शिकार हुईं मलाला युसुफजई से मुलाकात की है और कहा है कि वो एक असाधारण लड़की हैं जो देश का गौरव हैं.

ब्रिटेन के अस्पताल में इलाज करा रही मलाला से मिलने के बाद ज़रदारी ने ये बातें कहीं.

अक्टूबर के महीने से मलाला को विशेष मेडिकल सेवाएँ दी जा रही थी.

स्वात घाटी में लड़कियों के लिए शिक्षा का अभियान चलाने वाली मलाला पर तालिबान ने 9 अक्टूबर को हमला किया गया था.

हमला

तालिबान चरमपंथियों ने उस वक्त मलाला पर हमला किया जब वो स्कूल से घर लौट रही थी. बंदूकधारियों ने उनके सिर और गले में गोलियां मारी थीं.

इस हमले में मलाला की दो सलेहियाँ भी घायल हो गईं थीं.

15 अक्टूबर को मलाला को इलाज के लिए ब्रिटेन पहुंचाया गया.

मलाला 2009 में 11 साल की उम्र में उस वक्त पहली बार सुर्खियों में आई थी जब उसने बीबीसी उर्दू सेवा के लिए डायरी लिखना शुरू किया था.

इसमें उन्होंने स्वात घाटी में तालिबान के दबदबे के बीच जिंदगी की मुश्किलों को बयान किया था.

इसी बीच हजारों लोगों ने एक ऑनलाइन हस्ताक्षर मुहिम छेड़ी है जिसमें मलाला को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित करने की मांग की गई है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.