टायसन करा रहे हैं लिंग परिवर्तन!

 गुरुवार, 13 दिसंबर, 2012 को 15:02 IST तक के समाचार
माइक टायसन

वेबसाइट ने मजाक में इस खबर को प्रकाशित किया और अफ्रीका में इस खबर ने सनसनी फैला दी

ये खबर सुनकर आप भी चौंक गए होंगे, तो फिर अफ्रीका के अखबारों की क्या गलती है जिन्होंने एक अंग्रेजी वेबसाइट पर मज़ाक में छपी इस खबर को सही मान लिया और धड़ाधड़ अपनी वेबसाइटों पर इसे छाप दिया.

ब्रिटेन की एक वेबसाइट पर मजाकिया तौर पर ये खबर प्रकाशित हुई कि माइक टायसन अपना लिंग परिवर्तन कराकर महिला बन गए हैं और अब उन्होंने अपना नाम मिशेल रख लिया है.

देखते ही देखते ये मजाक एक सही खबर की तरह पूरे अफ्रीका में फैल गया.

अफ्रीका के कई अखबारों के ऑनलाइन संस्करणों ने ये खबर प्रकाशित कर दी कि पूर्व हैवीवेट बॉक्सिंग चैंपियन माइक टायसन ने अपना लिंग परिवर्तन करा लिया है.

ये खबर सबसे पहले ब्रितानी वेबसाइट न्यूज़बिस्किट पर व्यंग्यात्मक रूप में प्रकाशित हुई थी. रविवार को जिम्बॉब्वे स्टैंडर्ड ने खबर प्रकाशित की और उसके बाद मंगलवार को ये खबर स्पाईघाना वेबसाइट पर भी दिखी.

अनुभव

"इस खबर की वजह से हमारी वेबसाइट को अफ्रीका से ज़बर्दस्त ट्रैफिक मिल रहा है. वेबसाइट क्रैश होने की नौबत आ गई है."

जॉन ओफारेल, संपादक न्यूजबिस्किट

जिम्बॉब्वे स्टैंडर्ड की वेबसाइट के मुताबिक टायसन ने कहा था कि पहली बार मासिक चक्र का अनुभव उनका एक बड़ा सपना है और इसीलिए वो अपना नाम बदल कर मिशेल रख रहे हैं.

मजाक उड़ाने वाले इस लेख में माइक टायसन को ये कहते हुए बताया गया है कि वो अपने बॉक्सिंग करियर में भी अपने इस सपने को कभी भूल नहीं पाए थे.

इस लेख के प्रकाशित होते ही इसे फेसबुक पर हजारों लोगों ने पसंद किया. इसके बाद तो तमाम अफ्रीकी न्यूजवेबसाइटों के यहां इसे प्रकाशित करने की होड़ मच गई.

पिछले महीने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के आधिकारिक अखबार के ऑनलाइन संस्करण ने भी एक अमरीकी व्यंग्यात्मक वेबसाइट से एक खबर प्रकाशित की थी जिसमें उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन को साल 2012 का सबसे सेक्सी जीवित व्यक्ति बताया गया था. लेकिन वास्तव में ये कहानी सही नहीं थी.

दरअसल जिम्बॉब्वे स्टैंडर्ड ने भी टायसन की कहानी को ब्रिटेन की व्यंग्य आधारित वेबसाइट न्यूजबिस्किट से हू-ब-हू उठा लिया था, जिसमें लिखा था कि टायसन ने नवंबर में अपना लिंग परिवर्तन करा लिया.

न्यूजबिस्किट पर इस कहानी के लेखक जॉन ऑफरेल का कहना था कि इस खबर की वजह से उनकी वेबसाइट को अफ्रीका से ज़बर्दस्त ट्रैफिक मिल रहा है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.