अमरीकी स्कूल में गोलीबारी, 26 की मौत

 शनिवार, 15 दिसंबर, 2012 को 03:51 IST तक के समाचार

बच्चों को स्कूल से निकाल लिया गया है. तस्वीर रॉयटर्स

अमरीका के कनेक्टीकट राज्य में एक प्राइमरी स्कूल में हुई गोलीबारी में 26 लोग मारे गए हैं, जिनमें 20 बच्चे हैं.

एएफपी के मुताबिक हमलावर मारा जा चुका है और उसकी उम्र बीस से तीस साल की थी. स्थानीय मीडिया के मुताबिक हमलावर का नाम रायन लांज़ा है और वो 24 साल का था.

रिपोर्ट के मुताबिक वारदात में इस्तेमाल किए जाने वाले हथियार ज़ब्त कर लिए गए हैं.

साथ ही ज़िले में एहतियात के तौर पर बाकी स्कूलों को बंद कर दिया गया है.

क्लिक करें तस्वीरों में: अमरीकी स्कूल में गोलीबारी

शोक

"हमारा दिल मारे गए बच्चों के मां-बाप, उनके दादा-दादी, उनके भाई बहनों के के लिए टूट गया है. बाकी बच्चों के लिए भी हम शोक व्यक्त करते हैं कि समय से पहले उनका बचपन छिन गया. इन लोगों का दर्द कुछ भी कहने से कम नहीं हो सकता."

बराक ओबामा

रिपोर्टों के मुताबिक हमलावर ने स्कूल में अपनी मां को मार डाला जो वहां काम करती थी. साथ ही उसने क्लास रूम में भी गोली चलाई.

न्यूटाउन के मेयर मार्क बौटन ने सीएनएन को बताया कि जिन तीन लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है वो गंभीर रूप से घायल हैं.

उधर व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि अमरीका ने इस तरह के कई हादसों को सहा है.

उन्होंने कहा, "हमारा दिल मारे गए बच्चों के मां-बाप, उनके दादा-दादी, उनके भाई बहनों के के लिए टूट गया है. बाकी बच्चों के लिए भी हम शोक व्यक्त करते हैं कि समय से पहले उनका बचपन छिन गया. इन लोगों का दर्द कुछ भी कहने से कम नहीं हो सकता."

स्कूल के बाहर रोते हुए बच्चों और उनके मां-बाप को देखा जा सकता था.

पुलिस को फोन पर सूचना मिली थी कि स्कूल में स्कूल में गोलीबारी हो रही है. एक महिला ने सीएनएन चैनल के बताया कि उसने 'सैकड़ों राउंड गोली चलने की आवाज सुनी.' पुलिस मौके पर पंहुची और सुरक्षा अधिकारियों ने कई बच्चों को स्कूल से बाहर निकाला.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.