पूर्व राष्ट्रपति बुश सीनियर आईसीयू में

 गुरुवार, 27 दिसंबर, 2012 को 08:18 IST तक के समाचार
जॉर्ज एचडब्ल्यू बुश

जॉर्ज एचडब्ल्यू बुश वर्ष 1989 में अमरीका के 41वें राष्ट्रपति बने थे

अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज एचडब्ल्यू बुश को बुखार आने के बाद गहन चिकित्सा कक्षा (आईसीयू) में भर्ती कराया गया है. वे 88 वर्ष के हैं और कुछ समय से अस्वस्थ हैं.

प्रवक्ता जिम मैक्ग्राथ का कहना है कि बुश बीते रविवार से अस्पताल में भर्ती है. उनका कहना है कि डॉक्टर बुश की हालत पर नज़र रखे हुए हैं.

बुश को फेफड़ों में संक्रमण की वजह से 23 नवम्बर को ह्यूस्टन के मेथोडिस्ट अस्पताल लाया गया था.

वे द्वितीय विश्व युद्ध दौर के अमरीका के सबसे बुजुर्ग राष्ट्रपति हैं जो अब तक जीवित हैं.

राष्ट्रपति रोनॉल्ड रीगन के समय वे दो वर्ष के लिए उपराष्ट्रपति और फिर वर्ष 1989 में अमरीका के 41वें राष्ट्रपति बने थे.

वर्ष 1992 में उन्होंने दोबारा राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ा था लेकिन डेमोक्रेटिक पार्टी के बिल क्लिंटन ने उन्हें हरा दिया था.

तरल आहार पर

"उनका परिवार उनके साथ है. वे चेतन अवस्था में हैं और डॉक्टरों से बात कर रहे हैं."

प्रवक्ता

प्रवक्ता जिम मैक्ग्राथ का कहना है कि अब बुश को केवल तरल आहार दिया जा रहा है.

उनका कहना है कि बुश को बुखार ने जकड़ लिया है.

प्रवक्ता ने बताया, ''उनका परिवार उनके साथ है. वे चेतन अवस्था में हैं और डॉक्टरों से बात कर रहे हैं.''

प्रवक्त का ये भी कहना है कि डॉक्टर उनकी हालत पर कड़ी नजर रखे हुए हैं.

बुश को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, तब उम्मीद थी कि उन्हें जल्द छुट्टी मिल जाएगी. लेकिन बुखार की वजह से क्रिसमस भी उन्हें अस्पताल में ही मनाना पड़ा.

क्रिसमस के दिन उनकी पत्नी बारबरा, बेटा नील और परिवार के अन्य सदस्य मौजूद थे.

उनके बेटे जॉर्ज बुश भी दो बार अस्पताल जाकर उनका हाल-चाल पूछ चुके हैं. जॉर्ज बुश भी साल 2001 से 2009 के दौरान अमरीका के राष्ट्रपति रहे हैं.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.