वो शख़्स जो डायनासोर बेचता था

Image caption ये कंकाल टिरेनोसॉरस बतार का है जिसे सात साल पहले गोबी मरुस्थल से निकाला गया था.

फ्लोरिडा के एक जीवाश्म विक्रेता ने अदालत में स्वीकार किया है कि वो डायनासोर की हड्डियों और जीवाश्म तस्करी करता था.

इनमें मंगोलिया के उस टिरेनोसॉरस के कंकाल की तस्करी भी शामिल है जो सात करोड़ साल पुराना है.

न्यूयॉर्क की एक अदालत में ऐरिक प्रोकोपी ने बयान दिया कि उन्होंने मई में अवैध रुप से मंगोलिया से आयात किए गए इस कंकाल को दस लाख डॉलर से भी ज्यादा की रकम में नीलाम कर दिया.

जून में मंगोलिया से कंकाल के चोरी होने की सूचना मिलने के बाद अमरीकी अधिकारियों ने हड्डियों को जब्त कर लिया था.

Image caption प्रोकोपी को अक्टूबर में उस वक्त गिरफ्तार किया गया था, जब जीवाश्म से लदा एक ट्रक उनके घर पर पहुंचा

अदालत में सुनवाई के दौरान ऐरिक प्रोकोपी ने इस आरोप का बचाव नहीं किया.

जीवाश्म का काला कारोबार

प्रोकोपी ने ये भी स्वीकार किया कि उन्होंने चीनी फ्लाइंग(उड़ने वाला) डायनासोर के अलावा दो ओविरापोटर्स का भी आयात किया.

प्रोकोपी को अक्टूबर में उस वक्त गिरफ्तार किया गया था, जब जीवाश्म से लदा एक ट्रक उनके घर पर पहुंचा.

अमरीका के अटार्नी प्रीत भरारा का कहना है कि अधिकारी अब इन जीवाश्मों को उनके मूल देश लौटने की प्रक्रिया शुरू करेंगे.

उन्होंने कहा," जीवाश्म और पुरातन कंकाल एक देश के प्राकृतिक इतिहास और सांस्कृतिक विरासत के हिस्से होते हैं और प्रोकोपी जैसे लोग प्रकृ़ति के इस चमत्कार को काला बाज़ारी के जरिए बेचते हैं. ये इतिहास के एक टुकड़े की चोरी करना हैं"

मंगोलिया अमरीकी अदालत के जरिए चाहता है कि सात करोड़ वर्ष पुराने टिरेनोसॉरस का कंकाल उसे वापस कर दिया जाए.मंगोलिया का कहना है कि इस कंकाल को गोबी मरुस्थल से चोरी किया गया था.

चोरी के डायनासोर

गुरुवार को अदालत में, सहायक अमरीकी अटार्नी मार्टिन बेल ने डायनासोर की एक सूची पढ़ी और कहा कि प्रोकोपी ने इन्हें अवैध रूप से आयात किया था.

उन्होंने इसे मजिस्ट्रेट जज रोनाल्ड एलिस को भी दिखाया.

मार्टिन बेल ने ये भी कहा कि टिरेनोसॉरस का एक अन्य कंकाल जो लगभग पूरा है उसे प्रोकोपी के फ्लोरिडा स्थित घर में पाया गया. साथ ही ओविरापोटर का एक कंकाल प्रोकोपी के एक दूसरे घर से बरामद हुआ है.

प्रोकोपी ने स्वीकार किया कि वो अवैध रूप से मंगोलिया और चीन से कंकाल आयात करते थे.

इसी साल, मई में न्यूयॉर्क में हुई नीलामी में जिस टिरेनोसॉरस को बेचा गया उसे फिर से बनाने में प्रोकोपी ने साल भर मेहनत की थी क्योंकि इसकी हड्डियों का ढ़ांचा चरमरा चुका था.

प्रोकोपी के बारे में बताया गया है कि वो ऐसे संग्रहकर्ता हैं जो व्यावसायिक रुप से इंटरनेट पर मूंगा, जीवाश्म और अन्य वस्तुओं को बेचते हैं.

संबंधित समाचार