पाकिस्तान में बम धमाके, 81 लोगों की मौत

 शुक्रवार, 11 जनवरी, 2013 को 03:46 IST तक के समाचार

पाकिस्तान में पुलिस के अनुसार दक्षिणी पश्चिमी प्रांत बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा में गुरूवार की शाम हुए दो बम धमाकों में कम से कम 81 लोगों की मौत हुई है और सौ से ज्यादा लोग घायल हुए हैं.

पुलिस के मुताबिक़ ज़्यादातर लोगों की मौत दूसरे धमाके में हुई क्योंकि पहले धमाके के बाद पुलिस और मीडिया के लोग वहां पहुंचे थे.

क्वेटा पुलिस प्रमुख ज़ुबैर महमूद ने गुरूवार देर रात एक संवाददाता सम्मेलन कर इसकी जानकारी दी.

ज़ुबैर महमूद ने कहा कि गुरूवार शाम क्वेटा शहर के अलमदार रोड पर एक के बाद एक होने वाले दो बम धमाकों में 81 लोग मारे गए हैं जबकि 160 से ज़्यादा लोग ज़ख़्मी हुए हैं. ज़ुबैर महमूद ने कहा कि मरने वालों की संख्या में काफ़ी बढ़ोत्तरी हो सकती है.

पुलिस के अनुसार शुरूआती जानकारी से पता चला है कि पहला धमाका आत्मघाती था जबकि दूसरा धमाका एक कार में हुआ.

"अलमदार रोड पर स्थित एक स्नूकर क्लब में होने वाल धमाका इतना शक्तिशाली था कि इसके कारण तीन मंज़िला इमारत पूरी तरह से ध्वस्त हो गई."

डीआईजी अहमद शकील

क्वेटा के डीआईजी अहमद शकील के अनुसार गुरूवार को ही दोपहर बाद क्वेटा में एक और बम धमाका हुआ था जिसमें 12 लोग मारे गए थे और 34 ज़ख़्मी हुए थे.

यूनाईटेड बलूच आर्मी

बलूचिस्तान में सक्रिय एक चरमपंथी संगठन 'यूनाईटेड बलूच आर्मी' ने हमले की ज़िम्मेदारी क़बूल की है. एक दूसरे चरमपंथी संगठन 'लश्कर-ए-झांगवी' ने भी दावा किया है कि उसके कार्यकर्ताओं ने इन हमलों को अंजाम दिया है.

पाकिस्तानी की पुलिस ने हालाकि अभी तक आधिकारिक रूप से इस बारे में कुछ नहीं कहा है कि इस घटना के पीछे किस चरमपंथी संगठन का हाथ है.

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में एक लंबे समय से अलगाववादी संगठन सक्रिय हैं जहां सुन्नी और शिया समुदायों के बीच भी हिंसक वारदातें होती रही हैं.

अधिकारियों के मुताबिक़ गुरूवार देर शाम होने वाले धमाके भी शिया बहुत इलाक़े में हुए हैं और मरने वालों में ज़्यादातर लोग शिया समुदाय के हैं.

क्वेटा के व्यापारियो और शिया समुदाय के लोगों ने इन धमाकों के विरोध में शुक्रवार को बंद का आह्वान किया है.

क्वेटा में धमाका

क्वेटा धमाके में तीन मंज़िला इमारत पूरी तरह ध्वस्त हो गई.

पुलिस के अनुसार शाम को होने वाला धमाका अलमदार रोड पर स्थित एक स्नूकर क्लब में हुआ था और ये धमाका इतना शक्तिशाली था कि इसके कारण तीन मंज़िला इमारत पूरी तरह से ध्वस्त हो गई.

धमाके के बाद आस-पास के इलाक़े की बिजली भी गुल हो गई जिसके कारण लोगों की दिक़्क़तों में और इज़ाफ़ा हो गया.

शाम को हुए धमाके में एक पुलिस डीएसपी मुजाहिद हुसैन और एक थाना प्रभारी जाफ़र समेत कुल नौ पुलिसकर्मी मारे गए हैं जबकि पुलिस अधीक्षक ख़ालिद मसूद समेत कई पुलिस अधिकारी गंभीर रूप से घायल हैं जिनमें कई लोगों की हालत बहुत ही नाज़ुक़ है.

इससे पहले बलूचिस्तान के गृह सचिव अकबर हुसैन दुर्रानी ने बीबीसी से बातचीत के दौरान कहा कि पहले धमाके के बाद जब बचावकर्मी और मीडिया के लोग घटनास्थल पर पहुंचे तो उसके बाद एक और धमाका हुआ जिसमें कई लोग मारे गए.

मारे जाने वालों में एक निजी चैनल के रिपोर्टर, एक कैमरामैन इमरान शेख़ और एक समाचार एजेंसी के फ़ोटोग्राफ़र इक़बाल भी शामिल हैं जबकि कई मीडियाकर्मी घायल हुए हैं.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.