ऑस्ट्रेलियाई लोगों का भारत से ख़ास नाता

Image caption ऑस्ट्रेलियाईयों का भारतीय से है आनुवांशिक रिश्ता.

अगर ऑस्ट्रेलियाई लोगों को देखकर आपको ये लगता है कि वे भारतीयों से कितने अलग हैं. तो शायद आप ग़लत सोच रहे हैं.

हाल में हुए एक जेनेटिक अध्ययन के मुताबिक़ आज की ऑस्ट्रेलियाई पीढ़ी के पूर्वजों में भारतीय भी थे क्योंकि चार हज़ार साल पहले भारतीय लोग ऑस्ट्रेलिया पहुंच चुके थे.

ये माना जाता है कि आज से क़रीब 40 हज़ार साल पहले ऑस्ट्रेलिया में इंसान पहुंचे थे, लेकिन इसके बाद ये महादेश काफ़ी अलग-थलग पड़ा रहा. अठारहवीं शताब्दी के आस-पास यूरोपियन समुदाय के लोग ऑस्ट्रेलिया पहुंचे तब यहां हलचल बढ़ी.

लेकिन अब आदिम ऑस्ट्रेरेलियाई लोगों की डीएनए जांच में इस बात का पता चला है कि यूरोपिय लोगों के ऑस्ट्रेलिया पहुंचने से पहले ही भारतीय लोगों का वहां आना-जाना लगा हुआ था.

डिंगो

इन शोधकर्ताओं का विश्वास है कि भारतीय प्रवासी लोगों ने ऑस्ट्रेलियाई लोगों का परिचय एक ख़ास तरह के कुत्ते डिंगो से कराया.

नेशनल अकैडमी ऑफ़ साइंस की प्रोसेडिंग्स में कहा गया है कि पुराने जीवाश्म के आंकड़े बताते हैं कि भारतीय समुदाय के लोगों और जंगली कुत्ते डिंगो लगभग एक ही समय में ऑस्ट्रेलिया पहुंचे थे.

इन शोधकर्ताओं के मुताबिक़ भारतीय अपने साथ पत्थर से बने हथियार भी ऑस्ट्रेलिया ले कर आए थे.

जर्मनी के लाइप्जिश माक्स प्लांक इंस्टीच्यूट फॉर इव्यूल्योशनरी एंथ्रोपॉलॉजी के प्रोफ़ेसर मार्क स्टोनकिंग ने बताया, “लंबे समय से ये माना जा रहा था कि ऑस्ट्रेलिया पूरी तरह से अलग-थलग पड़ा था, क्योंकि वहां बाहर की दुनिया से संपर्क के बारे में कोई सबूत नहीं मिल रहा था.”

पहेली सुलझी

स्टोनकिंग आगे कहते हैं, “लेकिन अब वहां आधुनिक इंसानों के पहुंचने के बारे में जानकारी मिली है जो इस पहेली को हल करती है कि क्या वहां लंबे समय से मानवों की मौजूदगी थी या नहीं.”

आदिम ऑस्ट्रेलियाई आबादी के जेनेटिक गुणों का मिलान न्यू गायना, दक्षिण पूर्व एशिया और भारत के लोगों से किया गया.

किसी ख़ास जगह के लोगों के डीएनए सीक्वेंस के ज़रिए शोधकर्ता ये पता लगाते हैं ये लोग किन दूसरे लोगों के ज़्यादा क़रीब हैं.

शोधकर्ताओं ने पाया है कि क़रीब 35 हज़ार से 45 हज़ार साल पहले न्यू गायना और ऑस्ट्रेलियाई में मौजूद लोगों के बीच जेनेटिक समानता मिलती थी. उस दौर में ऑस्ट्रेलिया और न्यू गायना संभवत एक ही द्वीप रहे हों.

Image caption ऑस्ट्रेलियाई कुत्ता डिंगो की प्रजाति भारतीय मूल की.

शोधकर्ताओ के मुताबिक़ भारत और ऑस्ट्रेलिया के लोगों के बीच भी काफ़ी जेनेटिक समानताएं हैं.

प्रोफेसर स्टोनकिंग कहते हैं, “हमें इस बात के पर्याप्त संकेत मिले हैं जो बताते हैं कि ऑस्ट्रेलियाई और भारतीय लोगों के बीच 4000 से 5000 साल पहले संबंध था.”

हालांकि अभी तक ये पता नहीं चला है कि भारतीय किस रास्ते से दक्षिण अफ़्रीक़ा पहुंचे थे, लेकिन ये स्पष्ट हो गया है कि ऑस्ट्रेलिया पूरी तरह से अलग थलग नहीं था.

प्रोफ़ेसर स्टोनकिंग कहते हैं, “अध्ययन के नतीजे बताते हैं कि ऑस्ट्रेलियाई लोगों में भारतीयों का आनुवांशिक योगदान रहा है.”

हालांकि स्टोनकिंग ये भी कहते हैं कि इस नतीजे को पुख़्ता करने वाले कोई ठोस सबूत अभी तक नहीं मिले हैं लेकिन पत्थर के हथियार, डिंगो और भारतीय लोगों का ऑस्ट्रेलिया आना सब एक दूसरे से संबंधित ज़रूर है.”

संबंधित समाचार