अल्जीरिया में अब भी 30 विदेशी बंधक

  • 18 जनवरी 2013
गैस प्लांट
अल्जीरिया के एक गैस प्लांट में बंधकों को रखा गया है

अल्जीरिया की सरकारी मीडिया ने ख़बर दी है कि अभी तक क़रीब 650 बंधकों को चरमपंथियों के कब्ज़े से छुड़ाया जा चुका है लेकिन अब भी 30 से ज़्यादा विदेशी बंधक बने हुए हैं.

सरकारी समाचार एजेंसी एपीएस ने कहा है कि इन अमीनास में छुड़ाए गए बंधकों में से 573 अल्जीरियाई हैं और बाक़ी विदेशी.

एपीएस का कहना है कि चरमपंथी अब भी एक गैस प्लांट परिसर में छिपे हुए हैं और अल्जीरिया की सेना इस संकट का शांतिपूर्ण समाधान चाहती है.

एपीएस का यह भी कहना है कि चरमपंथी अभी भी गैस प्लांट में छिपे हैं और समझा जाता है कि ब्रिटेन के 10 नागरिक भी उनके कब्जे में हैं.

गुरुवार को सेना के कार्रवाई शुरू करते ही चार विदेशी मारे गए थे.

पुष्टि

पिछले दो दिनों से इस्लामी चरमपंथियों ने सहारा रेगिस्तान में स्थित एक गैस प्लांट में कई लोगों को बंधक बना रखा है.

सेना ने इस प्लांट को चारों तरफ से घेर रखा है. बंधक बनाए गए लोगों में ब्रिटेन, जापान, फ़्रांस और नॉर्वे के भी नागरिक हैं.

मारे गए बंधकों की नागरिकता के बारे में पुष्टि नहीं हो पाई है. एक फ्रांसीसी नागरिक ने बताया कि कैसे वे एक बिस्तर के नीचे 48 घंटे तक छिपे रहे, ताकि वे चरमपंथियों से बचे रहे.

उन्होंने बताया कि अल्जीरियाई कर्मचारियों ने गुप्त रूप से उन तक खाना पहुँचाया और फिर अल्जीरियाई सैनिकों को उनके छिपने की जगह के बारे में बताया और फिर उन्हें छुड़ाया गया.

संबंधित समाचार