फिर परमाणु परीक्षण करेगा उत्तर कोरिया

 गुरुवार, 24 जनवरी, 2013 को 10:26 IST तक के समाचार
फ़ाइल फ़ोटो

उत्तर कोरिया ने बीते साल दिसम्बर में रॉकेट प्रक्षेपण किया था जिस पर अमरीका ने आपत्ति जताई थी

उत्तर कोरिया ने कहा है कि वह अपने तीसरे परमाणु परीक्षण की योजनाओं पर आगे बढ़ रहा है.

समाचार एजेंसी केसीएनए के मुताबिक, उत्तर कोरिया की सेना ने कहा है, "हम उच्च स्तर के परमाणु परीक्षण करेंगे और लंबी दूरी के रॉकेट छोड़ेंगे जो अमरीका को निशाना बनाएंगे."

बयान में इन परीक्षणों के लिए कोई निर्धारित समय नहीं बताया गया है. उत्तर कोरिया ने इससे पहले वर्ष 2006 और वर्ष 2009 में परमाणु परीक्षण किए थे.

उत्तर कोरिया अगर अपनी योजना के मुताबिक तीसरा परमाणु परीक्षण करता है तो यह किम जांग-उन के नेतृत्व में देश का पहला परमाणु परीक्षण होगा जो दिसंबर 2010 में अपने पिता किम जांग-इल की मौत के बाद देश की सत्ता की कमान संभाल रहे हैं.

'निशाना पर होगा अमरीका'

"हम इस तथ्य को नहीं छिपा नहीं रहे हैं कि हम लंबी दूरी के जो तमाम रॉकेट छोड़ेंगे और जो उच्च स्तर के परमाणु परीक्षण हम करेंगे, उनका निशाना अमरीका होगा."

नेशनल डिफेंस कमीशन

उत्तर कोरिया की ओर से यह बयान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के उस प्रस्ताव के दो दिन बाद आया है जिसमें उसके हालिया रॉकेट परीक्षणों की भर्त्सना की गई थी.

केसीएनए ने नेशनल डिफेंस कमीशन के हवाले से कहा है, ''हम इस तथ्य को नहीं छिपा नहीं रहे हैं कि हम लंबी दूरी के जो तमाम रॉकेट छोड़ेंगे और जो उच्च स्तर के परमाणु परीक्षण हम करेंगे, उनका निशाना अमरीका होगा.''

उत्तर कोरिया अपने तीसरे परमाणु परीक्षण की तैयारी कर रहा है, इस तरह की खबरें बीते कई हफ्तों से मिल रही हैं. वहीं उत्तर कोरिया के पड़ोसियों और अमरीका ने परमाणु परीक्षण की योजना पर आगे नहीं बढ़ने के लिए कहा है.

इससे पहले, मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया के खिलाफ लगे प्रतिबंधों को और कड़ा कर दिया था क्योंकि उसने बीते साल दिसम्बर में एक रॉकेट प्रक्षेपण किया था जिसे अमरीका ने प्रतिबंधित लंबी दूरी की मिसाइल तकनीक का परीक्षण बताया था.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.