सैमसंग के मुनाफ़े में भारी बढ़ोत्तरी

 शुक्रवार, 25 जनवरी, 2013 को 12:29 IST तक के समाचार

गैलेक्सी सीरीज़ के मोबाइल बिक्री के मामले में अव्वल रहे.

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स का कहना है कि 2012 की आखिरी तिमाही में कंपनी का मुनाफ़ा 76 प्रतिशत बढ़ा है.

सैमसंग के अनुसार इस बढ़े मुनाफे के पीछे एक मुख्य वजह स्मार्टफ़ोन का बढ़ता हुआ बाज़ार है.

जानकारों के अनुमान को धता बताते हुए सैमसंग की 2012 की आखिरी तिमाही में शुद्ध आय 6.6 बिलियन डॉलर रही जबकि पिछले वर्ष इस दौरान कंपनी की शुद्ध आय 4.2 बिलियन डॉलर रही थी.

कोरियाई कंपनी का कहना है कि इस तिमाही में उनका मोबाइल से होने वाला मुनाफ़ा दोगुने से ज्यादा हो गया.

पिछले साल ही सैमसंग विश्व की सबसे बड़ी स्मार्टफ़ोन निर्माता कंपनी बनी थी. सैमसंग ने पहले स्थान पर काबिज़ ऐपल को पछाड़ते हुए ये स्थान हासिल किया था.

सिलसिला

"सैमसंग के मोबाइल फोन के विभिन्न प्रोडक्ट लागातर बढ़ रहे हैं और वहीं एप्पल अपने आई फ़ोन की बिक्री को बढ़ाने के लिए संघर्ष करती दिखाई दे रही है."

ली से चल, सियोल मेरिट्ज़ सिक्योरिटीज़

सियोल में मेरिट्ज़ सिक्योरिटीज़ के ली से चल ने कहा, “कुल मिलाकर कंपनी की कमाई का सिलसिला बरकरार है.”

ली से चल कहते हैं,“सैमसंग के मोबाइल फोन के विभिन्न प्रोडक्ट लागातर बढ़ रहे हैं और वहीं ऐपल अपने आई फ़ोन की बिक्री को बढ़ाने के लिए संघर्ष करती दिखाई दे रही है. ऐसे में अक्सर कमज़ोर रहने वाली पहली तिमाही में भी स्मार्टफ़ोन का निर्यात बढ़ता रहेगा.”

सैमसंग ने हालांकि ये नहीं बताया है इस तिमाही में कुल कितने स्मार्टफ़ोन बिके लेकिन जानकारों का मानना है कि सैमसंग ने इस दौरान 6.3 करोड़ स्मार्टफ़ोन निर्यात किए.

सैमसंग का कहना है कि कंपनी के गैलेक्सी सिरीज़ के स्मार्टफ़ोन और टैबलेट बिक्री के मामले में अव्वल रहे.

जानकारों के अनुसार विश्व भर में बिकने वाले स्मार्टफ़ोन में से एक चौथाई स्मार्टफ़ोन सैमसंग के होते हैं.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.